आहार ऐसा जो रखे दिल को दुरुस्त

जैतून का तेल और सलाद इमेज कॉपीरइट SPL

वैज्ञानिकों का कहना है कि जैतून का तेल और पत्तीदार सलाद या सब्जियों का मिश्रण भूमध्यसागरीय आहार को ज़्यादा पौष्टिक बनाता है.

पीएनएस जर्नल के अनुसार दोनों खाद्य समूह आपस में मिलकर नाइट्रो फैटी एसिड का निर्माण करते हैं जो रक्तचाप को कम करता है.

चूहों पर हुए एक अध्ययन में यह बात सामने आई कि जैतून के तेल की असंतृप्त वसा और सब्जियों में पाई जाने वाली नाइट्राइट आपस में मिल जाती हैं.

अध्ययन कहते हैं कि सब्जियों के साथ अखरोट और रुचिरा (अवाकाडो) के इस्तेमाल से भी अच्छे नतीजे मिलने चाहिए.

दिल की सेहत

ग्रीस, स्पेन और इटली के पारंपरिक पाक शैली से प्रेरित भूमध्यसागरीय आहार को अच्छे स्वास्थ्य और स्वस्थ दिल के लिए बेहतर माना जाता रहा है.

इस आहार में लाल मांस और मक्खन या जानवरों से मिलने वाली वसा की बजाय विशेष तौर पर सब्जियों, ताज़ा फलों, अन्न, अनाज, जैतून के तेल और अखरोट के साथ साथ चिकन और मछली की प्रचुरता पाई जाती है.

भूमध्यसागरीय आहार में शामिल हर घटक के पौष्टिक लाभ हैं, लेकिन शोधकर्ता इस सवाल पर उलझन में हैं कि इस आहार की कौन सी विशेषता इसे पूरी तरह इसे पौष्टिक बनाती है.

किंग्स कॉलेज लंदन के प्रोफ़ेसर फ़िलिप एटॉन और अमरीका की ­­­कैलीफ़ोर्निया यूनिवर्सिटी के सहयोगियों का मानना है कि इस आहार को पौष्टिक बनाने में विभिन्न तत्वों का योगदान है जो नाइट्रो फैटी एसिड का निर्माण करते हैं.

ब्रिटिश हार्ट फाउण्डेशन द्वारा सहायता प्राप्त अध्ययन में शोधकर्ताओं ने जेनिटिकली इंजीनियर्ड चूहों का उपयोग करके देखा कि उनके शरीर पर नाइट्रो फैटी एसिड का कैसा प्रभाव पड़ता है?

नाइट्रो फैटी एसिड एपॉक्साइड हाइड्रॉलेज़ नामक एंजाइम के स्राव को बंद कर रक्तचाप को कम करता है.

(पढ़ेंःउच्च रेशायुक्त आहार किसी वरदान से कम नहीं)

चूहों पर परीक्षण

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

प्रोफ़ेसर एटॉन ने कहा, "इंसानों में भी यही एंज़ाइम पाया जाता है, इसलिए हम सोचते हैं कि इंसानों में भी यह प्रतिक्रिया होनी चाहिए."

वो कहते हैं कि इससे पता चलता है कि भूमध्यसागरीय आहार इतना पौष्टिक क्यों है, हालांकि इसमें वसा भी होती है.

उनके मुताबिक़ भूमध्यसागरीय आहार में पाई जाने वाली वसा नाइट्रेट के साथ एक रासायनिक अभिक्रिया करके नाइट्रो फैटी एसिड का निर्माण करती है.

प्रोफ़ेसर एटोन ने बताया,''मनुष्यों में भी यही एंजाइम पाया जाता है इसलिए हम समझते हैं कि यही प्रक्रिया उनमें भी घटित होगी.''

वो कहते हैं, ''यही कारण है कि वसा की मौजूदगी के बावजूद, भूमध्यसागरीय आहार स्वास्थ्यवर्द्धक होता है.''

प्रोफ़ेसर एटॉन के अनुसार, ''भूमध्यसागरीय आहार में वसा के साथ, अगर इसे नाइट्रेट या नाइट्राइट के साथ लिया जाता है तो एक रासायनिक प्रक्रिया होती और इससे नाइट्रो फैटी एसिड बनता है.''

नए दवाओं की संभावना

उन्होंने कहा, "यह प्रकृति की सुरक्षा करने वाली व्यवस्था है. अगर हम इसकी जानकारी हासिल कर सकें तो हम उच्च रक्तचाप का उपचार करने और हृद्य रोग से बचाव के लिए नई दवाइयां बना सकते हैं."

उन्होंने कहा कि मनुष्यों पर इसके परीक्षण की योजना बनाई गई थी.

ब्रिटिश हार्ट फाउण्डेशन के डॉक्टर संजय ठकरार ने कहा, "यह रोचक शोध इस बात को स्पष्ट करता है कि भूमध्यसागरीय आहार आपके स्वस्थ हृदय के लिए अच्छा क्यों हैं? इन परिणामों ने एक रास्ता दिखाया है जिसमें एक विशेष तत्व उच्च रक्तचाप से मुकाबला करता है, जोकि हृद्य रोग के लिए एक बड़ा ख़तरा माना जाता है."

वह कहते हैं, "हालांकि, अभी काफ़ी काम करने की जरूरत है क्योंकि यह प्रयोग चूहों पर किया गया था और संभव है कि यह तत्व मनुष्य में किसी अन्य तरीके से अपना असर दिखाए."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार