धमकाए गए बच्चों में हो सकता है डिप्रेशन

  • 9 सितंबर 2014
डिप्रेशन इमेज कॉपीरइट spl

बार-बार अपने बड़े भाई-बहनों से डराए-धमकाए गए बच्चों में बड़े होने के बाद डिप्रेशन हो सकता है. यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्सफोर्ड के एक अध्ययन में यह बात सामने आई है.

ये अध्ययन क़रीब 7000 बच्चों पर किया गया है. उनसे 12 साल की उम्र में भाई-बहनों के उनके प्रति रवैए के बारे में पूछा गया. मसलन संवेदनशील भावनात्मक बातें, नज़रअंदाज किया जाना या उनके बारे में झूठ बोला जाना.

इन बच्चों पर 18 साल की उम्र तक नज़र रखी गई और उनके मानसिक स्वास्थ्य के बारे में पूछा गया.

इस विषय पर काम कर रही एक चैरिटी संस्था के अनुसार माता-पिता को बच्चों के बीच सुलह करवानी चाहिए.

लड़कियों को ज़्यादा ख़तरा

इमेज कॉपीरइट PA

अध्ययन में शामिल अधिकतर बच्चों ने कहा था कि उन्हें इस तरह के अनुभवों से नहीं गुजरना पड़ा है.

इनमें से 18 साल की उम्र में 6.4 फ़ीसदी में अवसाद का स्तर महत्वपूर्ण था. 9.3 फ़ीसदी में तनावग्रस्तता थी और 7.6 फ़ीसदी में खुद को नुकसान पहुंचाने की प्रवृति थी.

जिन 786 बच्चों ने ये कहा था कि उन्हें हफ़्ते में एक से ज़्यादा बार इस तरह के अनुभवों से गुजरना पड़ता है, उनमें अवसाद से घिरना, तनावग्रस्त होना और खुद को नुकसान पहुंचाने की प्रवृति दोगुनी थी.

इस समूह में 12.3 फ़ीसदी को अवसाद, 14 फ़ीसदी में खुद को नुकसान पहुंचाने की और 16 फ़ीसदी में तनावग्रस्त होने की प्रवृति थी.

लड़को की तुलना में लड़कियों में ये प्रवृतियां अधिक देखी गई. खासकर उन परिवारों में जहां तीन या उससे ज़्यादा बच्चे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार