मंगल की कक्षा में पहुंचा नासा का 'मैवेन'

मैवेन इमेज कॉपीरइट ESA

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का उपग्रह 'मैवेन' सफलतापूर्वक मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंच गया.

अंतरिक्ष में दस महीने की लंबी यात्रा के बाद 'मैवेन' ने प्रक्षेपक की मदद से गतिरोधों को पार किया.

इसने 33 मिनट में मंगल ग्रह के गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए आवश्यक गति हासिल कर ली थी.

'मैवेन' लाल ग्रह यानी मंगल के वातावरण का अध्ययन करेगा.

मैवेन पहुंचा पहले

'मैवेन' को मंगल ग्रह की ऐसी कक्षा में स्थापित किया गया है, जहां इसे ग्रह की एक परिक्रमा पूरी करने में 35 घंटे का समय लगेगा.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption नासा का अंतरिक्ष यान मैवेन दस महीने पहले मंगल की यात्रा पर रवाना हुआ था

वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि इससे उन प्रक्रियाओं का पता लगाने में मदद मिलेगी जिनके चलते मंगल ग्रह की हवा इस्तेमाल के लायक नहीं है.

फिलहाल मंगल ग्रह पर हवा का दबाव इतना कम है कि सतह पर मुक्त जल भाप बन कर उड़ जाता है.

'मैवेन' से मिलने वाले आँकड़ों से वैज्ञानिकों को मंगल के वर्तमान और अतीत के वातावरण की परिस्थितियों का बेहतर मॉडल विकसित करने में मदद मिलेगी.

भारत के पहले मंगलयान से 48 घंटे पहले 'मैवेन' मंगल की कक्षा में पहुंच गया है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार