माइक्रोसॉफ़्ट सीईओ की महिलाओं से माफ़ी

  • 10 अक्तूबर 2014
सत्या नडेला इमेज कॉपीरइट AP

माक्रोसॉफ़्ट के सीईओ यानी मुख्य कार्यकारी अधिकारी सत्या नडेला ने महिला कर्मचारियों के बारे में की गई टिप्पणी पर माफ़ी माँग ली हैं.

उन्होंने महिलाओं से कहा था कि उन्हें वेतन वृद्धि की माँग करने की बजाए व्यवस्था में यक़ीन रखना चाहिए.

तकनीकी क्षेत्र में महिलाओं के योगदान पर हुई एक गोष्ठी में उन्होंने कहा था कि महिलाएं यदि वेतन वृद्धि की माँग नहीं करती हैं तो ये 'अच्छा कर्म' है.

अपने कर्मचारियों को लिखे गए एक ईमेल में उन्होंने कहा है कि मैंने सवाल का बिलकुल ग़लत जवाब दिया था और मैं वेतन में फ़र्क़ को कम करने के कार्यक्रमों का दिल से समर्थन करता हूँ.

गोष्ठी के दौरान एक सवाल के जवाब में सत्या नडेला ने कहा था, "यह वेतन वृद्धि मांगने के बारे में नहीं है बल्कि ये जानने और विश्वास करने के बारे में है कि जैसे आप आगे बढ़ेंगे व्यवस्था वास्तम में आपको सही वेतन वृद्धि देगी. क्योंकि ये अच्छा कर्म है."

आलोचना

आयोजन के दौरान नडेला का साक्षात्कार करने वाली मारिया क्लावे ने तुरंत नडेला के जवाब को खारिज कर दिया था. मारिया क्लावे खुद भी माइक्रोसॉफ्ट में ही काम करती हैं.

इमेज कॉपीरइट MICROSOFT
Image caption भारतीय मूल के नडेला इसी साल माइक्रोसॉफ़्ट के सीईओ बने हैं.

इस टिप्पणी के कारण नडेला को ट्विटर पर आलोचना का सामना करना पड़ा था. इसके बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि वे अपनी बात सही से नहीं रख पाए थे.

अब एक ईमेल नें उन्होंने कहा है कि मारिया ने मुझसे उन महिलाओं को सलाह देने के बारे में पूछा था जो वेतन वृद्धि की माँग नहीं कर पाती हैं. मैंने उस सवाल का बिलकुल ग़लत जवाब दिया था.

उन्होंने कहा, "मैं महिलाओं और पुरुषों को एक जैसा वेतन दिए जाने का समर्थन करता हूँ."

उन्होंने कहा कि महिलाओं को जब भी लगता है कि उन्हें वेतन वृद्धि मिलनी चाहिए उन्हें तब ही इसे माँग लेना चाहिए.

भारतीय मूल के सत्या नडेला इसी साल माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बने हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार