आँखों की पुतलियों पर भी टैटू?

आंखों में टैटू इमेज कॉपीरइट AP

कहते हैं कि आंखें आपकी भावनाओं को जाहिर करती हैं तो फिर आंखों की पुतली पर टैटू करवाने पर उस शख़्सियत के बारे में क्या कुछ जाहिर होगा?

क्या ये उन्हें समाज से बिल्कुल अलग-थलग एक शख़्सियत बनाता है?

अमरीकी टैटू आर्टिस्ट लूना कोबरा वह शख़्स थे जिन्होंने आंखों की पुतली में स्याही डालकर टैटू बनाने का प्रयोग किया था.

उनका मकसद था साइंस फ़िक्शन फ़िल्म 'ड्युन' के चरित्रों की तरह नीली आंखों वाला प्रभाव दिखाने का.

उन्होंने पहली बार तीन लोगों पर इसका प्रयोग किया.

उनका कहना है कि मुझे पता है कि ये कितना अजीब था लेकिन मैं ज़िंदगी भर इस तरह के काम करता आया हूं.

प्रयोग

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

टैटू बनाने की उनकी तकनीक में वक़्त के साथ काफ़ी बदलाव आया. वह अब सीधे तौर पर रंग को आंख की पुतली के ऊपरी पतली परत पर डालने में कामयाब हुए.

एक छोटा स्याही का इंजेक्शन भी एक चौथाई आंख को रंगीन बनाने के लिए काफ़ी होता है.

उन्होंने सिडनी से लंदन और अमरीका तक सैकड़ों लोगों की आंखें नीली, हरी, लाल और काली की हैं.

कैली गार्थ, लूना कोबरा के सिडनी स्थित स्टूडियो में काम करती हैं. वह दुनिया से अलग हटकर दिखना चाहती हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

इसके लिए उन्होंने आंखों की पुतली पर टैटू बनवाने से पहले भी अपने शरीर पर कई प्रयोग किए हैं.

उनका कहना है, "यह ऐसे लगता है कि जैसे कोई आपकी आंख में झांक रहा है. आपको अजीब सा दबाव महसूस होता है और लगता है कि आपकी आंख में बालू पड़ गयी है लेकिन कोई दर्द महसूस नहीं होता."

प्रतिबंध

लेकिन पोलैंड के रैपर पोपेक इससे सहमत नहीं है.

उनका कहना है कि टैटू बनवाने के दो दिनों के बाद उनको आंखों में तेज़ जलन महसूस हुई.

इमेज कॉपीरइट WILL ROBSON SCOTT

पिछले कुछ सालों में अमरीकी क़ैदियों ने भी इसे अजमाया है. अमूमन ये क़ैदी टैटू का इस्तेमाल अपने गुनाहों को दिखाने और किसी ख़ास गैंग से जुड़े होने के लिए करते हैं.

अमरीकन ऑप्टोमैट्रिक एसोसिएशन ने साफ़ शब्दों में इस चलन की आलोचना की है और कहा है कि इसमें मरीज को संक्रमण, जलन और अंधेपन का जोख़िम है.

अमरीका के कई राज्य इसे लेकर चिंतित हैं और आंखों की पुतली पर टैटू बनवाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं.

लेकिन इसके बावजूद इसकी लोकप्रियता दिन पर दिन बढ़ती जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार