इथोपिया में मिला 'पहले मानव' का जीवाश्म

इथियोपिया में मिला मानव जीवाश्म इमेज कॉपीरइट BRIAN

वैज्ञानिकों ने मानव के निचले जबड़े का 28 लाख साल पुराना जीवाश्म ढूंढ निकाला है.

इथियोपिया में मिला हड्डियों का यह जीवाश्म, मानव की उत्पत्ति के शोधकर्ताओं के अनुमान से भी चार लाख साल पुराना है. दावा किया जा रहा है कि यह मानव जाति की सबसे पहले हुई शुरुआत के समय का जीवाश्म है.

अफ़ार प्रदेश के लीडी गेरारू रिसर्च एरिया से इस जीवाश्म को एक इथोपियाई छात्र शालाशेऊ सेयूम ने खोजा. सेयूम ने बीबीसी को बताया कि इस देखकर वो 'हैरान' रह गए थे.

वैज्ञानिकों के दल के मुखिया ने बीबीसी को बताया कि मानव जाति के विकास की यह सबसे पहली महत्वपूर्ण कड़ी पर प्रकाश डालता है. जलवायु परिवर्तन की वजह से मनुष्यों ने पेड़ पर रहने की बजाय ज़मीन पर रहना और सीधे चलना शुरू किया था.

पहला मानव?

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

अमरीका के लास वेगास स्थित नेवाडा विश्वविद्यालय के प्रोफ़ेसर ब्रायन विलमोर कहते हैं, “1974 में मिले 31 लाख साल पुराने होमिनिन के जीवाश्म से इस हड्डी का संबंध साफ़ है. होमिनिन मानव की तरह ही खड़े होकर चलने वाली जाति थी. इसे ‘लूसी’ नाम दिया गया था.”

'लूसी' ऑस्ट्रेलोपिथेकस अफ़रेनसिस प्रजाति का जीवाश्म था. सवाल यह है कि क्या वह बिल्कुल पहला मानव था?

प्रोफ़ेसर विलमोर कहते हैं, “हम इसी मुद्दे पर काम कर रहे हैं.”

'पेड़ से जमीन'

इमेज कॉपीरइट J RAMON ARROSMITH

पर 'लूसी' के समय और बड़े दिमाग वाले और मानव की तरह के शारीरिक अनुपात वाले होमो इरेक्टस प्रजाति के बीच तक़रीबन बीस लाख साल का अंतर है.

होमो हैबिलिस प्रजाति की खोपड़ी के कंप्यूटर विश्लेषण से पता चलता है कि यह इस नई खोज वाली प्रजाति का उत्तराधिकारी रहा होगा.

इस जबड़े के समय का पता लगने से मानव विकास के एक महत्वपूर्ण सवाल का जवाब मिल जाएगा. यह पता चल जाएगा कि आख़िर क्यों हमारे पूर्वज पेड़ों से उतर कर ज़मीन पर चलने लगे.

इमेज कॉपीरइट SPL

‘साइंस’ पत्रिक में छपे एक शोध से साफ़ होता है कि जलवायु परिवर्तन इसकी बड़ी वजह रही होगी. उस इलाक़े के पेड़ों के जीवाश्म के अध्ययन से पता चलता है कि हरा भरा घना जंगल घास के मैदान में तब्दील हो गया होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार