कार को 'हैकरों ने लिया अपने कंट्रोल में'

फ़िएट क्रिस्लर जीप शेरोकी इमेज कॉपीरइट Getty

कंप्यूटर सिस्टम में सुरक्षा ख़ामी सामने आने के बाद अमरीका में कार निर्माता कंपनी फ़िएट-क्राइज़लर अपनी 14 लाख कारों को बाजार से वापस ले रही है.

सुरक्षा विशेषज्ञों ने ये साबित कर दिया था कि उसकी कारों में लगे कंप्यूटर सिस्टम को हैक किया जा सकता है.

मंगलवार को तकनीकी मैग्ज़ीन वायर्ड पर प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया था कि हैकरों ने कार के म्यूज़िक सिस्टम में लगे इंटरनेट कनेक्शन को हैक कर एक 'शेरोकी जीप' को नियंत्रण में ले लिया था.

क्राइज़लर का कहना है कि वह प्रभावित सॉफ़्टवेयर को अपडेट करने के लिए कारों को वापस मंगा रही है.

कंपनी ने हैकिंग के काम को आपराधिक कृत्य बताया है.

सुरक्षा शोधकर्ता चार्ली मिलर और क्रिस वालासेक ने ये दर्शाया था कि कार में लगे म्यूज़िक सिस्टम के इंटरनेट कनेक्शन के जऱिए 'जीप शेरोकी' पर नियंत्रण किया जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Fiat Chrysler

इन दोनों शोधकर्ताओं ने कारों में लगे सुरक्षा सिस्टमों की जाँच में कई साल लगाए हैं.

ये दोनों अगले महीने होने वाली डेफ़ कॉन हैकर कांफ्रेंस में अपने कामकाज का प्रदर्शन करेंगे.

'क्या है बेहतर?'

कंपनी के अपनी कारें वापस लेने के ऐलान के बाद मिलर ने ट्वीट किया, "मैं सोच रहा हूँ कि क्या सस्ता है, सुरक्षित सिस्टम बनाना या कारें वापस लेना."

वहीं फ़िएट-क्राइज़लर का कहना है कि उसे सॉफ़्टवेयर की इस खामी के कारण किसी नुक़सान की कोई जानकारी नहीं है.

कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि इस मामले में सिर्फ़ अमरीका में बेची गई कारें ही प्रभावित हुई हैं.

कंपनी का कहना है कि ब्रिटेन में बेची गई कारें इससे प्रभावित नहीं हुई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार