क्या नई इबारत लिखेगा गूगल का अल्फ़ाबेट

गूगल प्लस इमेज कॉपीरइट

जब गूगल को ऑक्सफ़ोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी में 2006 में शामिल किया गया था तो इसे इस बात का सुबूत माना गया था कि इस अमरीकी टेक फ़र्म ने अपने तीन मूल रंगों वाले लोगो और 'बुरा न करो' वाले मंत्र के साथ आधिकारिक रूप से इंटरनेट युग की युगचेतना पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

लेकिन अल्फ़ाबेट शब्द इससे बहुत पहले से मौजूद है, जैसे कि गूगल की बढ़ने की इच्छा- इसके मूल काम के अलावा विकीपीडिया में इसके नाम 182 अधिग्रहण हैं.

गूगल की नई मूल कंपनी- अल्फ़ाबेट इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (और गूगल के मूल स्थापकों से एक) लैरी पेज ने एक इस ख़बर का ऐलान करते हुए एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि यह कंपनी टेक की इस महारथी के क्रियाकलाप को 'पारदर्शी और ज़्यादा जवाबदेह' बनाएगी.

पेज ने स्वीकार किया कि शुरू से ही गूगल के हित कंपनी के लिए 'बहुत काल्पनिक और तो और बहुत अजीब लगते थे'.

उन्होंने कहा, "हम अब भी ऐसे काम करने की कोशिश कर रहे हैं कि जो लोगों को अजीब लग सकते हैं लेकिन हम इन्हें लेकर बेहद-उत्साहित हैं".

इस आश्चर्यजनक पुनर्गठन के बारे में और जानकारियां आने वाले समय में ही साफ़ होंगी लेकिन अल्फ़ाबेट जिन मुख्य क्षेत्रों में काम करने जा रही है उनकी एक झलक.

गूगल

गूगल अपने नए सीईओ और पुराने गूगल एक्ज़ीक्यूटिव सुंदर पिचाई के नेतृत्व में अल्फ़ाबेट की एक सहायक कंपनी के रूप में काम करना जारी रखेगी.

इसमें गूगल के सबसे प्रचलित और फ़ायदेमंद- इंटरनेट क्रियाकलाप जैसे कि सर्च, मैप्स, यूट्यूब, क्रोम और एंड्रॉएड मोबाइल फ़ोन प्लेटफ़ॉर्म रहेंगे.

गूगल प्रोजेक्ट लून

इमेज कॉपीरइट Getty

गूगल की रिसर्च और डेवलपमेंट लैब जिसमें ड्राइवलेस कार, ड्रोन डिलीवरी सर्विस प्रोजेक्ट शाखा और प्रोजेक्ट लून- जो कि बहुत ऊंचाई पर उड़ने वाले ग़ुब्बारों से तैयार होने वाले वैश्विक नेटवर्क के माध्यम से ग्रामीण इलाक़ों को नेट से जोड़ने वाली महत्वाकांक्षी परियोजना है- शुरू और विकसित हुई हैं.

पिछले साल फ़ार्मास्यूटिकल क्षेत्र की महारथी नोवारटिस ने गूगल एक्स के साथ एक ऐसे स्मार्ट कॉंटेक्ट लेंस के विकास पर काम करने पर हामी भरी है जो डायबिटीज़ के मरीज़ों के आंसुओं से ग्लूकोज़ की मात्रा को नापकर उनके मोबाइल फ़ोन या कंप्यूटर पर इसकी जानकारी भेज देगा.

यह शाखा अपने ज़्यादातर काम के बारे में चुप रहने के बारे में कुख्यात है लेकिन इसकी बेव पेज की सूची में शोध के 20 विभिन्न क्षेत्र शामिल हैं जिनमें कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई), डाटा माइनिंग, सॉफ़्टवेयर इंजीनियरिंग और क्रिप्टोग्राफ़ी शामिल है.

यह अपनी ज़्यादा अजीब परियोजनाओं को 'मूनशॉट्स' कहती है- जो ज़्यादा-विचारवान प्रस्तावों के लिए एक गूगल एक्स कोड है.

कैलिको

इमेज कॉपीरइट AP

गूगल ने 2013 में स्वास्थ्य पर केंद्रित एक शोध और विकास कंपनी शुरू की थी, लैरी पेज ने अपनी ब्लॉग पोस्ट में ऐलान किया था कि इसके शोध का दायरा "स्वास्थ्य और अच्छी सेहत रहेगा विशेषकर उम्र बढ़ने से होने वाली दिक़्क़तें और उससे जुड़ी बीमारियों" तक होगा.

अपनी वेबसाइट में फ़र्म ने कहा, "हम लोग चिकित्सा, दवा विकास, मॉलीक्यूलर बायोलॉजी और जेनेटिक्स के क्षेत्रों से जुड़े वैज्ञानिक हैं".

"अपने शोध के ज़रिए हम ऐसे उपाय हासिल करना चाहते हैं जो उम्र बढ़ने की गति कम कर दे और इससे संबंधित बीमारियों को रोक दे."

नेस्ट

इमेज कॉपीरइट Nest

गूगल ने 2014 की शुरुआत में 3.2 बिलियन डॉलर में थर्मोस्टेट बनाने वाली कंपनी नेस्ट को ख़रीदा था.

नेस्ट का पहला प्रमुख उत्पाद, थर्मोस्टेट, यूज़र्स के व्यवहार को सीखने में सक्षम था और यह समझ सकता था कि इमारत में कोई है या नहीं, लेकिन अब यह स्मार्ट होमवेयर के अन्य क्षेत्रों में भी फैल गया है.

इसमें हाल ही में एक ऐसा कैमरा भी शामिल हो गया है जो यूज़र के घर में गतिविधियों को पहचान लेता है और स्मार्टफ़ोन ऐप के ज़रिए सूचना दे देता है.

फ़ाइबर

गूगल फ़ाइबर एक सुपरफ़ास्ट ब्रॉडबैंड और टीवी-ऑन-डिमांड सर्वेस है जो 1,000 मेगाबाइट्स प्रति सेकेंड तक की स्पीड देने का वायदा करती है.

इमेज कॉपीरइट AP

फ़िलहाल यह अमरीका के कुछ ही हिस्सों में ही उपलब्ध है जिनमें अटलांटा, नैशविले और सॉल्ट लेक सिटी शामिल है.

गूगल रोबोटिक्स

गूगल ने 2013 में छह रोबोटिक कंपनियों पर क़ब्ज़ा कर लिया जिनें सैन्य रोबोट बनाने वाली बॉस्टन डायनेमिक्स भी शामिल थी जिसने दुनिया का सबसे तेज़ दौड़ने वाला रोबोट चीता विकसित किया है.

हालांकि यह टेक महारथी कंपनी अब तक इस पर साफ़ रही है कि इसके रोबोट सैन्य कार्यों के लिए नहीं इस्तेमाल होंगे.

इमेज कॉपीरइट AP

बीबीसी के टेक कॉरेसपॉन्डेंट रॉरी सेलैन जोन्स कहते हैं, "गूगल की संपत्ति, शक्ति और हमारे जीवन के हर क्षेत्र के बारे में इसकी जानकारी को लेकर बढ़ते डर के कारण यह समझा जा सकता है कि कंपनी आश्वासन क्यों दे रही है".

निवेश

अपने अधिग्रहणों के अलावा गूगल की दो निवेश शाखाएं हैं- गूगल वेंचर्स और गूगल कैपिटल.

इमेज कॉपीरइट BBC Brasil

गूगल वेंचर्स का दावा है कि इसने 300 से ज़्यादा निवेश अकेले किए हैं जिनमें ऊबर, पेरिस्कोप और फ़िटस्टार (जिसे बाद में फ़िटबिट के फ़िटनेस ट्रैकर ने ख़रीद लिया है) शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार