एंड्रॉयड डिवाइस से मैलवेयर कैसे हटाएँ

  • 5 सितंबर 2015
इमेज कॉपीरइट Google

कई बार ऐप्स के साथ मैलवेयर आ जाते हैं, ख़ास तौर पर ऐसे ऐप्स के साथ जो गूगल स्टोर से नहीं, बल्कि कहीं और से ख़रीदे गए हों.

मैलवेयर को स्मार्टफोन से हटाने का काम काफी मेहनत का है लेकिन अगर आपने मैलवेयर को नहीं हटाया तो आपके स्मार्टफोन की रफ़्तार धीमी हो जाएगी.

सबसे पहले अपने स्मार्टफोन को 'सेफ मोड' में बूट कीजिए. इससे सभी ऐप जो अपने डाउनलोड किए होंगे, और साथ में छिपे हुए मैलवेयर, भी डिसएबल हो जाएंगे.

जब फ़ोन रीबूट हो रहा है तो आपको मेनू और ऑन/ऑफ बटन को प्रेस करके सेफ मोड में लाना होगा. उसके बाद आपके फ़ोन के बाईं तरफ नीचे सेफ मोड लिखा होगा.

अनइन्स्टॉल भी करें

उसके बाद सेटिंग्स में जाकर ऍप्लिकेशन चुनिए जहां पर आपको वो सभी ऐप दिखेंगे जो अपने डाउनलोड किया है.

जो भी ऐसे ऐप आपने डाउनलोड किया हो जिन पर आपको भरोसा नहीं है, उन्हें अनइन्स्टॉल कर दें.

अगर कोई ऐप ग्रे हो गया है और अनइन्स्टॉल नहीं हो रहा है, इसका मतलब है कि आपने उस ऐप को डिवाइस एडमिनिस्ट्रेटर के लिहाज़ से रखा हुआ है. उसको डिसएबल करके ऐप को अनइन्स्टॉल करना होगा.

एक बारे अपने सभी ऐप अनइन्स्टॉल कर लिए उसके बाद आपको अपने फ़ोन को एक बार फिर से बूट करना होगा. जब आपका फ़ोन फिर से ऑन होगा तो आपको उसकी रफ़्तार में पहले से काफी फर्क दिखाई देगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)