60 सेकंड की कसरत कीजिए, फ़िट रहिए

  • 16 फरवरी 2016

आजकल लोग अपनी सेहत को लेकर ज़्यादा जागरूक हैं, फ़िक्रमंद हैं.

फ़िट रहने का सबसे अच्छा तरीक़ा है, नियमित रूप से वर्ज़िश करना.

कसरत हम सबके लिए कई मायनों में फ़ायदेमंद है. यह हमारे दिल और फेफड़ों को फ़िट रखती है.

नियमित रूप से वर्ज़िश करने से हमारा मूड भी अच्छा रहता है. लेकिन दिक़्क़त यह है कि हम में से अस्सी फ़ीसदी लोग, सिर्फ़ सोचते रह जाते हैं. इसके फ़ायदे जानते हुए भी इसके लिए वक़्त नहीं निकाल पाते.

फ़िट रहने के लिए हफ़्ते में कम से कम ढाई घंटे, या डेढ़ सौ मिनट की एक्सरसाइज़ ज़रूरी है. मगर होता यह है कि हम कभी व्यस्तता तो कभी आलस की वजह से ऐसा कर नहीं पाते हैं.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

अब फ़िट तो रहना है. सो अगर ऐसा हो कि आप रोज़ सिर्फ़ एक मिनट वर्ज़िश करें, ताकि सेहत अच्छी रहे तो कैसा हो?.

यक़ीन नहीं आया न? बीबीसी के एंकर-डॉक्टर माइकल मोज़ले को भी इसका यक़ीन नहीं आया था, जब उन्हें, इस ख़ास वर्ज़िश के बारे में पता चला.

इसका नाम है, हाई इनटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग, जिसे नाम दिया गया है 'हिट' एक्सरसाइज़ का.

जब डॉक्टर माइकल को इसके बारे में पता चला, पहले तो उन्हें 'हिट' एक्सरसाइज़ के फ़ायदों के दावे पर यक़ीन नहीं हुआ. लेकिन, फिर उन्होंने सोचा कि एक बार इसे आज़माने में हर्ज़ ही क्या है?

सिर्फ़ साठ सेकेंड की इस 'हिट' वर्ज़िश से आप, नियमित एक्सरसाइज़ के कई फ़ायदे उठा सकते हैं.

फिर क्या था, डॉक्टर माइकल मोज़ले जा पहुंचे हाई इन्टेंसिटी, इंटरवल ट्रेनिंग या फिर हिट एक्सरसाइज़ करने. वे पंहुचे एक मिनट में नियमति वर्ज़िश के फ़ायदों का दावा परखने के लिए.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

इसके लिए वे गए उन शोधकर्ताओं के पास, जो हिट एक्सरसाइज़ को पिछले कुछ सालों से जांच परख रहे हैं.

लेकिन, इस ख़ास तरह की वर्ज़िश में ख़ास कुछ भी नहीं. जैसे आप अपनी एक्सरसाइज़ बाइक पर देर तक मेहनत करते हैं. शुरुआत ठीक वैसे ही करनी है.

बस, धीरे-धीरे आपको अपनी रफ़्तार बढ़ाते जाना है. जितना ज़ोर लगाकर आप आम तौर पर एक्सरसाइज़ बाइक चलाते हैं, आपको बस उससे ज़्यादा ज़ोर लगाना है.

तेज़ी से इसे बढ़ाते जाना है. नियमित कसरत में आप यही काम थोड़े इत्मीनान से करते हैं. लेकिन 'हिट' में आपकी रफ़्तार बहुत मायने रखती है. आपको पूरी ताक़त और रफ़्तार से बाइक चलानी है.

जब ऐसा करते हुए आपकी सांस फूलने लगे, तो थोड़ा ठहर जाइए.

सांस लीजिए. जैसे ही आपकी धड़कनें सामान्य हों, फिर से उतनी ही ताक़त और रफ़्तार से जुट जाइए. कुछ देर तक सामान्य तरीक़े से एक्सरसाइज़ करने के बाद आपको अगले बीस सेकेंड फिर से, दोगुनी ताक़त औऱ रफ़्तार से कसरत करनी है.

केवल सात मिनट में आपकी दिन भर की कसरत की ज़रूरत, इस 'हिट' एक्सरसाइज़ से पूरी हो जाती है.

'हिट' आज़माने के बाद डॉक्टर माइकल इसके सीक्रेट से वाक़िफ़ हो चुके थे. उन्होंने बताया कि असल में 'हिट' का राज़ है, आपका ज़्यादा ज़ोर लगाकर, पूरी ताक़त से वर्ज़िश करना.

वैसे इसे लेकर जो शोध हो रहे हैं, उनके मुताबिक़, नियमित रूप से 'हिट' एक्सरसाइज़ करके आप अपने दिल और फेफड़ों को सेहतमंद रख सकते हैं.

इससे आपका हाज़मा भी बेहतर होता है, जिसका सीधा संबंध आपके शरीर के शुगर लेवल से होता है.

दिल और फेफड़े अच्छे होंगे, खाना ठीक से, आसानी से पचेगा तो ज़ाहिर है आप अच्छा, सेहतमंद महसूस करेंगे. इसके लिए आपको ख़र्च करने हैं, सिर्फ़ साठ सेकेंड.

'हिट' एक्सरसाइज़ की मदद से आप अपने दिमाग के उस हिस्से को सक्रिय करते हैं, जो आपके शरीर की चर्बी को नियंत्रित करता है. इस कसरत से एक हार्मोन निकलता है जो आपके शरीर की चर्बी को कम करने में मददगार होता है.

डॉक्टर माइकल ने छह हफ़्ते तक 'हिट' एक्सरसाइज़ की. इसके नतीजे चौंकाने वाले रहे.

उनके शरीर में इंसुलिन की मात्रा में चौबीस फ़ीसदी का इज़ाफ़ा हुआ था. इंसुलिन वह हारमोन है, जो हमारे ख़ून में शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है. इसकी कमी होने पर हमें डायबहिटीज़ हो जाती है.

इस प्रयोग की कामयाबी से डॉक्टर माइकल इतने प्रभावित हुए हैं कि अब वो नियमित रूप से 'हिट' एक्सरसाइज़ करते हैं. इससे उनका हाज़मा दुरुस्त रहता है. मूड अच्छा रहता है, और शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है.

इंग्लैंड के अलावा ऑस्ट्रेलिया में भी 'हिट' एक्सरसाइज़ पर शोध के ऐसे ही नतीजे सामने आए हैं. यह वर्जिश आपके दिल, दिमाग और हाज़मे के लिए बहुत अच्छी है.

हालांकि अगर आप कमज़ोर हैं, तो बेहतर यह होगा कि 'हिट' कसरत करने से पहले अपने डॉक्टर से मशविरा कर लें.

आप इसे सिर्फ़ एक्सरसाइज़ बाइक पर ही नहीं कर सकते. यदि आप दौड़ते हैं तो चढ़ान वाली जगह पर दौड़ते हुए 'हिट' कर सकते हैं. आपके दफ़्तर में सीढ़ियां हैं तो उन पर तेज़ी से चढ़-उतरकर 'हिट' एक्सरसाइज़ कर सकते हैं.

हां, लेकिन महिलाओं को ध्यान रखना होगा कि वे हाई हील के सैंडल पहनकर ऐसा न करें.

तो, देर किस बात की है? आज से ही शुरू कीजिए 'हिट' और रहिए 'फ़िट'.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी फ़्यूचर पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार