सस्ते चाइनीज़ फ़ोन में हो सकता है ख़तरा

इमेज कॉपीरइट Reuters

अगर आप सस्ते स्मार्टफ़ोन इस्तेमाल कर रहे हैं या ख़रीदने का सोच रहे हैं तो थोड़ा सावधान रहना ज़रूरी है. शिओमी और हुआवेई के सस्ते फ़ोन अब दुनिया भर में नाम कमा रहे हैं. तरह तरह के फ़ीचर से लदे ये स्मार्टफ़ोन ग्राहकों में काफ़ी पसंद किये जा रहे हैं.

लेकिन इस रिपोर्ट (www.makeuseof.com/tag/chinese-smartphone-might-serious-security-problem) के अनुसार हाल में ये पाया गया है कि चीन में बनाये गए हैंडसेट में सिक्योरिटी को लेकर ख़तरा हो सकता है. अगर किसी हैकर को ऐसा कोई फ़ोन मिल जाए तो आपके लिए ख़तरनाक हो सकता है.

आइये पूरी बात समझाते हैं. ताइवान की कंपनी मीडियाटेक सिस्टम ऑन अ चिप पर चलने प्रोडक्ट बनाती है, जो स्मार्टफ़ोन में लगाए जाते हैं. 2013 में मीडियाटेक ने क़रीब 22 करोड़ सिस्टम ऑन अ चिप बनाये थे. सस्ते स्मार्टफ़ोन में MT6582 नाम का चिप इस्तेमाल होता है, जो लेनोवो और हुआवेई के स्मार्टफ़ोन में काफ़ी इस्तेमाल होता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

MT6582 में एक डिबग सेटिंग होता है जो कि अलग अलग कंपनियों में काम करने के टेस्ट के लिए बनाया गया है. लेकिन अब यही ख़तरे के कारण बन गया है. अगर हैकर आपके इस डिबग सेटिंग तक पहुंच जाए तो आपके स्मार्टफ़ोन के रुट एक्सेस तक पहुंच सकता है जिससे पूरे फ़ोन को वो कंट्रोल कर सकता है.

लेनोवो और हुआवेई के स्मार्टफ़ोन पर ख़ास कर इस सिक्योरिटी की परेशानी का असर हो सकता है. लेकिन इस मामले में उनका कोई दोष नहीं है.

अगर आपका स्मार्टफ़ोन इन ब्रांड का है तो आप इसके बारे में पूरी जानकारी ले लीजिये. इसके लिए जीएसएमएरीना (www.gsmarena.com) नाम के वेबसाइट पर जाइए. 'प्लेटफ़ार्म' पर जब आप जाएंगे तो वहां आपके चिपसेट के बारे में जानकारी मिल जायेगी. 'सेटिंग' में जाकर 'अबाउट फ़ोन' में एंड्राइड का वर्जन भी मिल जाएगा. इसके बाद आपको तय करना है कि आप क्या करना चाहेंगे.

अगर स्मार्टफ़ोन पुराना हो गया है तो आप नया फ़ोन ख़रीदने की सोच सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)