माइक्रोसॉफ्ट ने वापस लिया टे चैटबोट को

इमेज कॉपीरइट Microsoft

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने कृत्रिम इंटेलीजेंस सॉफ्टवेयर को इंटरनेट से वापस ले लिया है.

ये सॉफ्टवेयर सोशल मीडिया पर आए कमेंट्स का एक किशोर लड़की की तरह चैटिंग के जरिए उत्तर देता है.

इस प्रोग्राम "चैटबोट " के किरदार टे को जातिवादी, लैंगिक और अन्य अपमानजनक टिप्पणी शुरू करने की सजा दी गई.

माइक्रोसॉफ्ट का विकसित किया चैटबोट ट्वीटर पर बदजुबानी, जातिवादी टिप्पणी करने, भड़काने वाले उत्तेजक बयान देने जैसी बदमाशी तक चला गया है.

ये प्रायोगिक एआई जो संवादों से सीखता है, 18 से 24 साल के लोगों से संवाद के लिए डिजाइन किया गया था.

इमेज कॉपीरइट Twitter

कृत्रिम इंटेलीजेंस टे को शुरू करने के केवल 24 घंटे बाद ही माइक्रोसॉफ्ट इसके कुछ उत्तेजक कमेंट्स के संपादन करता दिख रहा था.

सॉफ्टवेयर फर्म ने कहा कि वह " कुछ सुधार कर रहा है. "

एआई चैट बॉक्स मशीन से सीखने का प्रोजेक्ट है जो इंसानों के साथ काम करने के लिए डिजाइन किया गया है.

जैसे ये सीखता है इसके कुछ उत्तर कुछ लोगों के साथ हो रहे संवाद के लिए अनुचित और निर्देश देने वाले जैसे होते हैं.

अपने बयान में माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि वह टे में कुछ अनुकूलन कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार