हैशटैग भी ट्रेडमार्क बनने लगा..

  • 5 अप्रैल 2016
इमेज कॉपीरइट .

ऑनलाइन दुनिया में ट्रेंड के सब गुलाम हैं. जो भी ट्रेंड कर सकता है उसको सब लोग फॉलो करना चाहते हैं और उससे जुड़ना चाहते हैं.

कंपनियां ट्रेंड का फायदा उठकर ग्राहकों तक पहुंचना चाहती हैं और आम लोग ट्रेंड का साथ देकर अपनी बात दूसरों तक पहुंचना चाहते हैं.

जैसे जैसे कंपनियों के लिए ऑनलाइन अपने ग्राहकों से बात करना अहम होता जा रहा है, वो अब अपने हैशटैग को अपने ट्रेडमार्क में शामिल कर रही हैं.

वॉल स्ट्रीट जर्नल की इस रिपोर्ट के अनुसार जो भी कंपनी ऑनलाइन मार्केटिंग को काफी जोश के साथ करती है उसके लिए हैशटैग अहम हो गया है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

इस रिपोर्ट के अनुसार 2015 में दुनिया भर में 1398 हैशटैग के लिए ट्रेडमार्क के आवेदन दिए गए.

इमेज कॉपीरइट AP

2010 में सिर्फ सात ऐसे आवेदन दुनिया भर में किये गए थे. 2014 में 103 ऐसे ट्रेडमार्क को रजिस्टर किया गया था. T20 वर्ल्ड कप के दौरान पेप्सी के विज्ञापनों में ऐसे ही हैशटैग के साथ विज्ञापन देखने को मिले थे.

हैशटैग की शुरुआत ट्विटर पर हुई थी. ये कोई भी शब्द हो सकता है जिसके पहले # साइन दिखाई दे. अब पूरे इंटरनेट पर ये आपको कहीं भी दिखाई दे सकता है.

अगर आप अपनी बात दुनिया तक पहुंचाना चाहते हैं तो एक हैशटैग के साथ किसी बात को कहते रहें, तो आपकी आवाज़ कोई न कोई तो सुन ही पाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार