सेकेंड हैंड स्मार्टफ़ोन खरीदें तो क्या देखें

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

सेकेंड हैंड स्मार्टफ़ोन आजकल बाजार में धूम मचा रहे हैं. जैसे जैसे लोगों ने महंगे स्मार्टफ़ोन खरीदना कम कर दिया है, कंपनियों ने सेकेंड हैंड प्रोडक्ट को अब बाजार में लाने का सोचा है.

लेकिन जब भी आप सेकेंड हैंड स्मार्टफ़ोन खरीदने की सोचें तो बहुत सावधान रहने की ज़रुरत है. आइए आपको बताते हैं किन बातों का ध्यान रखिए ताकि आपको कोई बेवक़ूफ़ न बना दे.

कई वेबसाइट पर आज कल सेकेंड हैंड स्मार्टफ़ोन मिल रहे हैं इसलिए इन्हें ढूँढ़ने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. सबसे पहले आपको ये तय करना होगा कि एंड्राइड का कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम और स्क्रीन साइज आपको चाहिए. अगर अपना बजट शुरू में तय कर लेंगे तो स्मार्टफ़ोन चुनने में थोड़ी आसानी होगी.

जब भी किसी ब्रांड के फ़ोन के नए मॉडल लॉन्च होते हैं तो उसके पुराने मॉडल थोड़े कम समय में मिल जाते हैं. इसलिए आपको ऐसे मौके की तलाश में रहना होगा.

ये पता कर लीजिए कि जिस भी वेबसाइट से आप सेकेंड हैंड स्मार्टफ़ोन खरीद रहे हैं, क्या उसकी कोई रीटर्न पालिसी है? अगर एक-दो दिन के इस्तेमाल के बाद स्मार्टफ़ोन पसंद नहीं आया तो आप उसे वापस कर सकते हैं.

फ़ोन खरीदते समय अपने सिम कार्ड को भी उसमे डाल कर देख लीजिए. काफी आम बात है पर इससे ये चेक कर सकते हैं कि डिवाइस काम कर रहा है कि नहीं. लेकिन इससे ये गारंटी नहीं मिलेगी कि ये फ़ोन चोरी किया हुआ तो नहीं है. बेचने वाली कंपनी से ये गारंटी मांगिए कि ये फ़ोन चोरी का नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जब आप फ़ोन को देखने जा रहे हैं तो लैपटॉप, माइक्रो एसडी कार्ड और हैडफ़ोन भी साथ रखिये, सिर्फ ये चेक करने के लिए कि फ़ोन के सभी फीचर काम कर रहे हैं.

फ़ोन सिर्फ दिखने में बढ़िया नहीं होना चाहिए, उसके सभी फीचर काम भी करने चाहिए. एक फ़ोन कॉल भी कर लीजिए, फ़ोटो ले लीजिए और मैसेज भी भेज कर देख लीजिए कि सभी फ़ीचर से आप संतुष्ट हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार