ऑनलाइन गुमनाम रहने की ये है तरकीब

  • 15 जून 2016
इंटरनेट इमेज कॉपीरइट PHOTODISC

इंटरनेट पर अगर कई कंपनियों की नज़रों से बच कर ब्राउज करना है तो वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क या वीपीएन का सहारा लें.

इन पर अगर अपने नाम से लॉग-इन नहीं किया जाए तो वाकई आपकी पहचान करना आसान नहीं होगा.

ऐसे समय में जब हर वक्त आपकी ऑनलाइन आदतों पर कंपनियां नज़र रख रही हैं, वीपीएन आपका सहारा बन सकते हैं.

आपके लिए बढ़िया वीपीएन वो है जो आपके ब्राउज़िंग का रिकॉर्ड अपने पास नहीं रखता है. आइये आपको कुछ ऐसे वीपीएन सर्विस के बारे में बताते हैं.

प्राइवेट इंटरनेट एक्सेस आपके लिए बहुत बढ़िया एन्क्रिप्शन का विकल्प देता है. अगर आप चाहें तो बिना एन्क्रिप्शन के भी काम कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

अगर वीपीएन काम करना बंद कर दे तो स्क्रीन पर एक बटन को प्रेस करते ही आपका कनेक्शन बंद हो जाएगा.

ऐसे में आप किसी भी समय बिना एन्क्रिप्शन के सर्फ नहीं करेंगे. इस सर्विस के लिए आपको हर महीने करीब 450 रुपये खर्च करने होंगे.

वीपीएन सर्विस को अगर आजमाना है तो एक्सप्रेस वीपीएन पर आप काम कर सकते हैं.

30 दिन के लिए इसकी सर्विस को इस्तेमाल करके ये देख सकते हैं कि आपके काम के लायक है कि नहीं.

आपकी ब्राउज़िंग के बारे में कोई भी रिकॉर्ड नहीं होगा और आपके लिए 256-बिट एन्क्रिप्शन होगा.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

इस्तेमाल करने वाले एक्सप्रेस वीपीएन की रफ़्तार को सबसे तेज़ मानते हैं.

लेकिन हर महीने के करीब 900 रुपये की खर्च के कारण जेब पर ये भारी पड़ेगा.

700 रुपये महीने खर्च करके टोरगार्ड पर भी आपको बहुत बढ़िया एन्क्रिप्शन मिलेगा.

जब आप इसकी सर्विस इस्तेमाल करेंगे तो आपको टोरगार्ड के सर्वर या गूगल के सर्वर इस्तेमाल करने का विकल्प है.

क्रिप्टोस्टॉर्म नाम का वीपीएन एन्क्रिप्शन, बढ़िया स्पीड जैसे फीचर देता है.

लेकिन जब आप उसकी सर्विस इस्तेमाल करना चाहेंगे तो आपको ऑनलाइन एक टोकन खरीदना होगा.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

उस टोकन का इस्तेमाल करके आप क्रिप्टोस्टॉर्म के सिस्टम पर लॉग इन करके इंटरनेट से कनेक्ट कर सकते हैं.

450 रुपये से कुछ ज़्यादा हर महीने खर्च करके आपको इस सर्विस का फायदा मिल सकता है.

इन सभी वीपीएन सर्विस के लिए आपको हर महीने पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

हर महीने पैसे खर्च करके आप ऐसी कंपनियों से सुरक्षा की गारंटी लेते हैं.

ये सभी कंपनियां एन्क्रिप्टेड सर्विस ही आपको देती हैं और आपकी ब्राउज़िंग और पर्सनल जानकारी किसी की भी नज़र से दूर रखती हैं.

अगर पैसे खर्च किये बिना आप वीपीएन सर्विस चाहते हैं तो उसके लिए ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं.

लेकिन उसके लिए आपको अपनी जानकारी की सुरक्षा की गारंटी नहीं मिलेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार