अनचाहे कॉल, एसएमएस से बचने के लिए कई ऐप

अनचाहे एसएमएस से बचने के लिए भारत की टेलीकॉम नियामक ट्राई ने अपना एंड्राइड ऐप लॉन्च किया है.

ट्राई को उम्मीद है कि इस ऐप की मदद से लोगों को अनचाहे एसएमएस से बचने में मदद मिलेगी.

अनचाहे एसएमएस के खिलाफ अपनी लड़ाई को ट्राई अब ऐप के ज़रिए लड़ना चाहता है. ट्राई के मौज़ूदा क़ानूनों के बावजूद अनचाहे एसएमएस को बंद नहीं किया जा सका है.

स्पैम के खिलाफ ट्राई ने तरह-तरह की कोशिश की है. लेकिन वो सफल नहीं रहा है. ट्राई के वेबसाइट पर जाकर शिकायत करना हमेशा संभव नहीं होता है. कई बार शिकायत करने वालों को ये भी बोल दिया जाता है कि मैसेज में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं था.

अगर आप अनचाहे एसएमएस से परेशान हैं तो अपनी शिकायत ट्राई के पास ज़रूर दर्ज कीजिए क्योंकि कई बार लोग ऐसा नहीं करते हैं. इससे ट्राई को अनचाहे एसएमएस भेजने वालों के बारे में हमेशा पूरी जानकारी नहीं होती है.

इमेज कॉपीरइट PA

आपकी शिकायत सिर्फ इसी ऐप के ज़रिए हो ये ज़रूरी नहीं है. इसके अलावा भी आपके पास विकल्प है. इंडिया अगेंस्ट स्पैम (नाम का ऐप पहले से ही काम कर रहा है.

ये आपके इनबॉक्स से स्पैम एसएमएस चुनने में मदद करता है. ऐसा होने के कारण, जो भी ये ऐप इस्तेमाल करता है उसके लिए उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराने में आसानी होती है.

इस ऐप के ज़रिए किसी भी कॉल ये मैसेज को आप स्पैम के रूप में चुन सकते हैं. एक बार आपने किसी नंबर को स्पैम के रूप में चुन लिया उसके बाद उस नंबर से आपको दुबारा कॉल या मैसेज नहीं मिलेगा.

ट्रूकॉलर ने भी हाल ही में अपने सर्विस में एंटी स्पैम फीचर शुरू किया है. इस ऐप में आपको कई और विकल्प दिए गए हैं. आप चुने हुए नंबर की सीरीज के सभी कॉल ब्लॉक कर सकते हैं. अगर किसी जाने-माने नंबर से हमेशा कॉल आती है तो 'डू नॉट आन्सर' के फ़ीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Google Play

करीब दस करोड़ ट्रूकॉलर इस्तेमाल करने वालों के लिए स्पैम कॉलर की लिस्ट में रोज़ नए नंबर भी जोड़े जाते हैं.

बढ़िया एंटी स्पैम वाले ऐप में आपको शब्दों के हिसाब से भी मैसेज को ब्लॉक करने का फीचर होता है. ऐसा करने से अनजाने नंबर से आने वाले मैसेज से भी बचा जा सकता है.

शिकायत करने के पहले आपको 'नेशनल डू नॉट कॉल' में अपने नंबर को रजिस्टर कराना पड़ेगा.

अगर आप सभी मैसेज से दूर रहना चाहते हैं तो उसी अनुसार अपनी पसंद रजिस्टर कर दीजिए. कोई भी शिकायत होने पर 1909 पर कॉल करके भी अपनी शिकायत दर्ज की जा सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार