'प्रवासी मीठी गोली,' फंसे ट्रंप जूनियर

  • 20 सितंबर 2016
इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका में रिपबल्किन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप के सबसे बड़े बेटे डोनल्ड ट्रंप जूनियर विवाद में फंस गए हैं.

उनकी एक टिप्पणी ने उन्हें सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर ला दिया.

उन्होंने प्रवासियों को शरण देने की अमरीकी नीति की आलोचना करते हुए मीठी गोलियों वाली एक तस्वीर ट्वीट की जिसमें लिखा, "अगर मेरे पास स्किटल (एक प्रकार की मीठी गोली) से भरा एक कटोरा हो और मैं आपसे कहूं कि तीन स्किटल खाने से ही आपकी मौत हो जाएगी तो क्या आप वो खाएंगे. यही हमारी सीरियाई शरणार्थी समस्या है."

इमेज कॉपीरइट Twitter

उन्होंने आगे लिखा, "पॉलिटिकली करेक्ट होने का एजेंडा हमें छोड़ना होगा और अमरीका को सबसे ज़्यादा प्राथमिकता देनी होगी."

लेकिन जिन मीठी गोलियों की तस्वीर डोनल्ड ट्रंप के बेटे ने अपने ट्वीट में लगाई उन गोलियों को बनाने वाली कंपनी रिगली ने मीठी गोलियों की तुलना शरणार्थियों से किए जाने की तीखी आलोचना की है.

रिगली अमेरिका की वाइस प्रेसिडेंट डेनिस यंग ने लिखा, "स्किटल कैंडी हैं शरणार्थी लोग हैं. हम इस तरह की तुलना को सही नहीं मानते."

इमेज कॉपीरइट Twitter

डोनॉल्ड ट्रंप जूनियर के इस कमेंट से नाराज़ होकर लोगों ने सीरिया में युद्ध की वजह से ख़राब हालात से जूझ रहे छोटे-छोटे बच्चों की तस्वीरें पोस्ट की हैं.

इन तस्वीरों में वो घायल, रोते हुए और परेशान नज़र आ रहे हैं. लोगों ने इन तस्वीरों के ऊपर लिखा है. ये स्किटल (मीठी गोली) नहीं हैं.

लोगों ने लिखा, "ट्रंप के दुलारे. जिन स्किटल की बात करके आप मज़े ले रहे हैं, तो बता दें कि सीरिया में युद्ध झेल रहे, रोते बिलखते और मरते बच्चे स्किटल नहीं हैं."

अब तक डोनल्ड ट्रंप या हिलेरी क्लिंटन ने इस ट्वीट पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए