'सर्किट' को मोदी पर गुस्सा क्यों आया?

नरेंद्र मोदी

एक ओर जहाँ बॉलीवुड के कई अभिनेताओं ने 500 और 1000 रुपए के नोटों पर लगी रोक का स्वागत किया है, वहीं अरशद वारसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दनादन कई सवाल दाग दिए हैं.

ट्विटर पर एक के बाद एक किए कई ट्वीट्स में वारसी ने नाराज़गी जताते हुए कहा, "अगर नरेंद्र मोदी वाकई देश में बदलाव लाना चाहते हैं, तो एकतरफ़ा क़ानून को बदलें. क्या मुझे टैक्स चुकाने के बाद कमाई गई व्हाइट मनी वापस मिल सकती है?"

अरशद वारसी ने ख़ास तौर से आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) पर अपनी भड़ास निकाली और कहा, "आर्थिक अपराध शाखा ने मेरे टैक्स जमाकर कमाए गए मेहनत के पैसों को मेरे बैंक अकाउंट से निकाल लिया और मैं इस बारे में कुछ नहीं कर पाया."

पीएम नरेंद्र मोदी को किए एक ट्वीट में वारसी ने लिखा है, "सर आपने प्रभावशाली तरीक़े से काले धन का ख़ात्मा कर दिया है, कृपया अब पुराने क़ानूनों को बदलें और टैक्स देने वालों की संख्या बढ़ाने पर काम करें."

अरशद वारसी ने कहा, "एक धोखेबाज़ कंपनी को सरकार काम करने दे रही है और आयकर देने वालों को क़ीमत चुकानी पड़ रही है. न्याय कहाँ है?"

उन्होंने कहा कि वे ऐसे भारत की कल्पना कर रहे हैं, जहाँ 50 प्रतिशत लोग टैक्स दें.

अरशद वारसी ने अपनी नाराज़गी जताते हुए नरेंद्र मोदी को एक और ट्वीट किया और लिखा- सर आप अपनी कुर्सी का मज़ा लीजिए लेकिन ईमानदार आयकरदाताओं को अपने पायदान की तरह इस्तेमाल करना बंद कीजिए.

वैसे फ़िल्म इंडस्ट्री की कई जानी-मानी हस्तियों ने मोदी के फ़ैसले का स्वागत किया था.

अमिताभ बच्चन, रजनीकांत और शाहरुख़ ख़ान ने नरेंद्र मोदी के फ़ैसले का स्वागत किया था. रजनीकांत ने नरेंद्र मोदी को सलाम करते हुए कहा था कि नए भारत का उदय हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)