जो रूट को आउट देने वाले अंपायर सी शम्सुद्दीन की शिकायत करेगी टीम इंग्लैंड

  • 30 जनवरी 2017
जो रूट इमेज कॉपीरइट Reuters

नागपुर में भारत-इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा दूसरा टी20 मुकाबला. एक बार फिर टॉस हारकर बल्लेबाज़ी करते हुए टीम इंडिया 150 का आंकड़ा पार कर नहीं पाई और इंग्लैंड शुरुआती झटकों के बावजूद मज़बूत दिख रही थी.

जब लग रहा था कि मैच और सिरीज़ इंग्लैंड की झोली में जा रहा है, अनुभवी गेंदबाज़ आशीष नेहरा और नौजवान जसप्रीत बुमराह ने आख़िरी ओवरों में शानदार गेंदबाज़ी कर भारत को सिरीज़ में वापस ला दिया.

पढ़ें- राष्ट्रगान के दौरान परवेज़ रसूल के चुइंगम चबाने पर सवाल

भारत ने अंतिम गेंद पर इंग्लैंड को हराया

ओलंपिक चैंपियन मो फ़राह ने ट्रंप के आदेश की आलोचना की

हार से जीत तक कैसी पहुंची टीम इंडिया

इंग्लैंड को 24 बॉल में 32 रन की दरकार थी. बेन स्टोक्स और जो रूट जमे हुए थे और भारतीय खिलाड़ियों के कंधे झुकने लगे थे. लेकिन नेहरा ने 17वें ओवर में ना केवल स्टोक्स को पवेलियन भेजा बल्कि महज़ पांच रन देकर भारत की उम्मीदें जगाईं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अगला ओवर बुमराह ने डाला और सिर्फ़ तीन रन दिए. ज़ाहिर है, नौजवान तेज़ गेंदबाज़ की इस धारदार कोशिश ने कप्तान विराट कोहली का हौसला बढ़ा दिया.

19वें ओवर की ज़िम्मेदारी फिर नेहरा पर थी जिन्होंने शुरुआती तीन गेंदों पर चार रन दिए. लेकिन अगली तीन गेंद पर जोस बटलर ने 12 रन बटोरे जिसमें एक शानदार छक्का और चौक्का शामिल है. ओवर से कुल मिले 16 रन और जीत की आस जाती रही.

एक गेंद ने पलटा मैच

आख़िरी ओवर में इंग्लैंड को सिर्फ़ आठ रन चाहिए थे. बुमराह के हाथ में गेंद थी और सामने अनुभवी जो रूट. जीत इंग्लैंड के हाथों में दिख रही थी. लेकिन पहली ही गेंद पर कुछ ऐसा हुआ की मैच पलट गया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

बुमराह की सामान्य उछाल की गेंद को पढ़ने में रूट गच्चा खा गए और ऐसा लगा कि बॉल सीधे उनके पैड पर टकराई. बुमराह की अपील और अंपायर सी शम्सुद्दीन ने उंगली उठाने में ज़रा देर नहीं लगाई. नागपुर स्टेडियम में शोर अपने चरम पर पहुंच गया.

अंपायर के फ़ैसले से रूट सकते में आ गए और रिप्ले ने उनके गुस्से की वजह को वाजिब बताया. दरअसल गेंद उनके बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर पैड पर लगी थी और पगबाधा आउट होकर पवेलियन लौटे रूट काफ़ी बदक़िस्मत रहे.

टीम इंग्लैंड क्यों हुई नाराज़

और इस एक गेंद ने मैच पलट दिया. बाकी की बची पांच गेंद में बुमराह ने दो रन दिए. एक और विकेट भी चटकाया. ज़ाहिर है अंपायर के इस फ़ैसले से टीम इंग्लैंड ख़ासी ख़फ़ा थी और अंग्रेज़ कप्तान इयॉन मॉर्गन नाराज़गी छिपाई भी नहीं.

इमेज कॉपीरइट Twitter

मैच प्रज़ेंटेशन में उन्होंने कगा, ''हमने आख़िरी ओवर की शुरुआत अच्छी नहीं की और एक फ़ैसला भी हमारे ख़िलाफ़ गया.'' उनका इशारा रूट को आउट देने वाले शम्सुद्दीन की तरफ़ था.

और सोशल मीडिया भी इस पर चर्चा करता दिखा.

सोशल मीडिया पर ख़ासी चर्चा

फ़्रेडी फ़ैज़ान ने टि्वटर पर लिखा, ''और मैन ऑफ़ द मैच का खिताब जाता है सी शम्सुद्दीन को...वो पूरी तरह इसके हक़दार थे.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

अनंद गौतम ने सोशल मीडिया पर लिखा, ''हम जीत गए और इसका श्रेय जाता है सी शम्सुद्दीन को.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मैच के बाद मॉर्गन ने कहा, ''ये काफ़ी निराश करने वाला था. इसमे मोमेंटम बदल दिया. 20वें ओवर की पहली गेंद और ऐसी विकेट पर 40 बॉल खेल चुके बल्लेबाज़ की विकेट गंवाना- ये बड़ा झटका था. ये हमारे लिए काफ़ी भारी साबित हुआ.''

इंग्लैंड करेगा अंपायर की शिकायत

टि्वटर पर नोएल ने लिखा है, ''अम्पायर सी शम्सुद्दीन ने मैच के आख़िरी ओवर में क्रिकेट की भावना को तहस-नहस कर दिया.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

‏@De_Vindula हैंडल से लिखा गया ''क्या अब बुमराह हीरो बन गए हैं! कमऑन यार, आपको सी शम्सुद्दीन को भी कुछ श्रेय देना चाहिए जिन्होंने अनाधिकारिक रूप से मैच में भारतीय टीम की नुमाइंदगी की.''

इमेज कॉपीरइट Reuters

टीम इंग्लैंड मैच रेफ़री को सौंपी जाने वाली रिपोर्ट में शम्सुद्दीन के ग़लत फ़ैसले को प्रमुखता से उठाने की भी तैयारी कर रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे