सोशल: पत्रकार गौरी लंकेश का वो 'आखिरी' ट्वीट....

  • 6 सितंबर 2017
ट्विटर इमेज कॉपीरइट Twitter

बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हमलावरों ने मंगलवार को गोली मारकर हत्या कर दी है.

गौरी दक्षिणपंथियों की आलोचना को लेकर अक्सर चर्चा में रहती थीं. मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने उनकी हत्या पर दुख जताते हुए जांच के आदेश दिए हैं.

गौरी लंकेश की हत्या की सोशल मीडिया पर भी काफी चर्चा हो रही है. वे अपनी हत्या से कुछ घंटे पहले तक ट्विटर पर एक्टिव थीं.

गौरी ने अपने ट्विटर हैंडल से फ़ेक न्यूज़ के खिलाफ ट्वीट्स समेत कई ट्वीट्स को री-ट्वीट किया. खबर लिखे जाने से 9 घंटे पहले गौरी ने रोहिंग्या मुसलमानों पर एक स्टोरी का लिंक ट्वीट किया था.

इससे कुछ वक्त पहले गौरी ने दो ट्वीट किए थे, इन ट्वीट्स पर लोग उनकी हत्या के बाद प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

गौरी के दो आखिरी ट्वीट्स

गौरी लंकेश ने इन ट्वीट्स में लिखा था, ''हम लोग कुछ फर्जी पोस्ट शेयर करने की गलती करते हैं. आइए एक-दूसरे को चेताएं और एक-दूसरे को एक्सपोज़ करने की कोशिश न करें.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

अपने अगले ट्वीट में गौरी लिखती हैं, ''मुझे ऐसा क्यों लगता है कि हममें से कुछ लोग अपने आपसे ही लड़ाई लड़ रहे हैं. हम अपने सबसे बड़े दुश्मन को जानते हैं. क्या हम सब प्लीज़ इस पर ध्यान लगा सकते हैं.''

गौरी के इस ट्वीट् में रिप्लाई करते हुए @tweet_vito ने लिखा, ''गौरी लंकेश आप बिलकुल सही थीं. हम सबको अपने सबसे बड़े दुश्मन के खिलाफ एकजुट होना होगा. भगवान आपकी आत्मा को शांति दे.''

मालविका लिखती हैं, ''हे भगवान, मुझे यकीन नहीं हो रहा कि कुछ देर पहले गौरी लंकेश की हत्या कर दी गई.''

हालांकि कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो आपत्तिजनक ट्वीट्स में गौरी लंकेश की मौत को सही ठहरा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Facebook

लंकेश की हत्या पर लोगों के सवाल

ट्विटर पर @Cricketwallah ने लिखा, ''गौरी लंकेश से कुछ मुलाकातें हुई थीं. मैंने उन्हें एक जुझारू, निडर पत्रकार के रूप में पाया. क्यों किसी की इस बात की वजह से हत्या की जानी चाहिए?''

जावेद अख्तर ने ट्वीट किया, ''दाभोलकर, पंसारे, कलबुर्गी और अब गौरी लंकेश. अगर एक ही तरह के लोग मारे जा रहे हैं तो किस तरह के लोग हत्यारे हैं?'

एस इरफान हबीब ने ट्वीट किया, ''गौरी लंकेश की हत्या न सिर्फ दुखद है बल्कि डराती भी है. एक बहादुर पत्रकार के तौर पर असहमति की कीमत जान गंवाकर चुकानी पड़ी.''

राजदीप सरदेसाई ने लिखा, ''पंसारे, कलबुर्गी, दाभोलकर और लंकेश. अगला कौन है? ये हो क्या रहा है? पिछले केसों में अब तक किसी को दोषी क्यों नहीं ठहराया गया?''

इमेज कॉपीरइट Twitter

भारतीय जनता पार्टी के नेता और मोदी मंत्रिमंडल में शामिल राज्यवर्धन सिंह राठौर ने एक ट्वीट के ज़रिए गौरी लंकेश की हत्या की निंदा की है.

पत्रकार गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या

दाभोलकर, पंसारे, कलबुर्गी के हत्यारे कौन

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे