स्कूल बस कंडक्टर ने हत्या से पहले की थी यौन शोषण की कोशिश

  • 9 सितंबर 2017
रायन इंटरनेशनल स्कूल, गुरुग्राम, छात्र की मौत, हत्या इमेज कॉपीरइट RYANINTERNATIONALSCHOOLS.COM

गुरुग्राम रायन इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय छात्र की हत्या के आरोप में पुलिस ने स्कूल बस कंडक्टर को गिरफ़्तार कर लिया है.

हत्या से पहले बच्चे के साथ यौन शोषण की कोशिश भी की गई थी. गुरुग्राम पुलिस ने घामदोज गांव के रहने वाले कंडक्टर अशोक को हिरासत में ले लिया है.

उधर केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मीडिया से बातचीत में इस हादसे को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. उन्होंने कहा, "जांच हो रही है, पुलिस गुनाहगारों तक पहुंची है. जल्द ही पूरा न्याय होगा."

उन्होंने ये भी कहा कि ऐसी परिस्थिति दोबारा नहीं हो, ये सुनिश्चित करने की ज़रूरत है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

हालांकि मीडिया में कल से ही स्कूल बस ड्राइवर और कंडक्टर के नाम पर शक़ जताया जा रहा था.

दूसरी क्लास में पढ़ने वाला सात वर्षीय बच्चा कल स्कूल के टॉयलेट में मिला था. बच्चे को अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

पीड़ित परिवार के एक रिश्तेदार ने बीबीसी को बताया ''सात बजकर 55 मिनट पर हमने उसे स्कूल के बाहर छोड़ा, मगर 10 मिनट में फ़ोन आया कि बच्चा गिर गया है, ख़ून निकल रहा है और आप तुरंत अस्पताल पहुंचें. जब अस्पताल पहुंचे तो बच्चे की जान जा चुकी थी."

इस पूरे मामले में स्कूल प्रबंधन पर लापरवाही के आरोप लग रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट RYANINTERNATIONALSCHOOLS.COM

गुरुग्राम एसीपी क्राइम मनीष सहगल ने बताया कि मुख्य आरोपी अशोक को गिरफ़्तार कर लिया गया और उसने अपना गुनाह भी कुबूल कर लिया है. उन्होंने ये भी बताया कि अशोक को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा और उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी.

बच्चे के परिजनों का बुरा हाल है. इंडियन एक्सप्रेस अख़बार के मुताबिक बच्चे के पिता ने कहा, 'उन्होंने मेरे छोटे से बच्चे को काट डाला. डॉक्टरों ने मुझे बताया कि उन्होंने मेरे बच्चे पर दो बार हमला किया. उसके कान से गले तक एक लंबा घाव था. उसका कान कटा हुआ था और गले के पास त्वचा की दो परतें दिख रही थीं. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं अपने बच्चे को इस हालत में देखूंगा.'

इस घटना से लोगों में काफ़ी गुस्सा है. सोशल मीडिया पर लोगों ने अपनी नाराज़गी जाहिर की है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

वैशाली लिखती हैं कि प्राइमरी स्कूल के बच्चे के लिए वॉशरूम में कोई हेल्पर नहीं था. यह बेहद शर्मनाक है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

जब आपको यह पता चलता है कि अब आपका 7 साल का बच्चा कभी भी स्कूल से वापस नहीं आएगा...उस मां को कौन समझा सकता है...

इमेज कॉपीरइट Twitter

अनिल ने भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि जब मां-बाप अपने बच्चों को इन बड़े, नामचीन स्कूलों में भेजते हैं तो कितने भरोसे के साथ भेजते हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter

वहीं पूर्वा ने स्कूल को बंद करने की बात की है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

एक अन्य ट्वीटर हैंडल से लिखा गया है कि ये स्कूल सिर्फ पैसा बनाने में लगे रहते हैं लेकिन बच्चों की सुरक्षा के लिए कुछ भी नहीं करते.

सख़्त कार्रवाई का आश्वासन

इस बीच राज्य के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि रविवार वो इस मामले पर प्रेस कांफ्रेंस करेंगे. उन्होंने कहा कि गुनहगारों को छोड़ा नहीं जाएगा. साथ ही सख़्त से सख़्त कार्रवाई करने की भी बात कही.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए