सोशल: दिवाली 'मुबारक' क्यों नहीं हो सकती?

  • 17 अक्तूबर 2017
जस्टिन ट्रूडो, दिवाली, हिंदू, भारतीय, त्योहार. अरबी, कनाडा, ट्विटर, सोशल मीडिया, ट्रोल इमेज कॉपीरइट Twitter

अगर दीपावली की शुभकामनाएं देने के लिए 'दिवाली मुबारक' कहा जाए तो? कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कुछ इसी अंदाज़ में दीपावली की शुभकामनाएं दी हैं.

अपने उदार विचारों और मोहक व्यक्तित्व के लिए मशहूर ट्रूडो ने ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर की है. तस्वीर में वो पारंपरिक भारतीय पोशाक (काले रंग की ज़रीदार शेरवानी) पहने हैं. और दीप प्रजव्वलित कर रहे हैं.

ऐसा प्रधानमंत्री जिनकी दीवानी हैं महिलाएं

इमेज कॉपीरइट Twitter

तस्वीर के साथ उन्होंने लिखा,''दिवाली मुबारक! आज रात हम ओटावा में इसका जश्न मना रहे हैं.''

उनका 'दिवाली मुबारक' कहना था कि एक घंटे के भीतर ही प्रतिक्रियाओं की बाढ़ सी आ गई. बहुत से लोगों को ट्रूडो का 'दिवाली मुबारक' कहना रास नहीं आया.

इमेज कॉपीरइट Twitter

भावेश पांडेय ने जवाब दिया,'' दिवाली मुबारक नहीं दिवाली की बधाइयां कहते हैं, सही कीजिए.'' क्रिस्टीना ने एक ख़बर शेयर करते हुए ट्वीट किया,''जस्टिन ट्रूडो को जहां भी मौका मिलता है वो मुस्लिमों को बधाई देने से नहीं चूकते.''

जब जस्टिन ट्रूडो से मिले जस्टिन ट्रूडो

इमेज कॉपीरइट Twitter

जवाब एक दूसरे ट्विट यूज़र ने कहा,''यह सच है लेकिन कम से कम वो कोशिश कर रहे हैं.'' एक अन्य यूज़र ने कहा,''सही शब्द 'शुभ दीपावली' है, 'दिवाली मुबारक' नहीं. मुबारक अरबी भाषा का शब्द है, भारतीय नहीं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

वहीं, कई लोगों ने जस्टिन ट्रूडो के समर्थन में भी दिखे. जान्वी ने लिखा,''इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता. यह ज्यादा अहम है कि वो भारतीय त्योहारों का बहुत सम्मान करते हैं और वो सबके साथ मिलकर खुशी-खुशी इन्हें मनाते हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

ऑनेली ने लिखा,''जस्टिन, यह अरबी है लेकिन हमें इससे कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि हम आपसे प्यार करते हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

यह पहला मौका नहीं है जब ट्रूडो ने भारतीय त्योहार के मौके पर बधाई दी है. वो होली, दिवाली और ईद से लेकर बैसाखी तक धूमधाम से सेलिब्रेट करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे