ताजमहल: संगीत सोम के बयान पर आज़म ख़ान का पलटवार

  • 17 अक्तूबर 2017
संगीत सोम इमेज कॉपीरइट TWITTER/SOM_SANGEET

बीजेपी नेता संगीत सोम के ताजमहल को लेकर दिए विवादित बयान पर राजनीति गरमा गई है. कई नेता सोशल मीडिया और अपने बयानों में इस मुद्दे पर तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आज़म खान ने प्रतिक्रिया में एक और विवादित बयान दे दिया है.

आज़म ख़ान ने एक टीवी चैनल पर कहा,''मैं तो पहले से कह रहा हूं. उन सभी स्मारकों को गिरा देना चाहिए जिनसे गुलामी की बू आती है. अकेले ताजमहल ही क्यों? संसद भवन, राष्ट्रपति भवन, कुतुबमीनार और लाल किले को भी गिरा देना चाहिए.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा,''मैंने तो छोटे बादशाह से कहा कि आप आगे बढ़िए, हम आपके साथ हैं. पहला फावड़ा आप चलाइए, दूसरा हम चलाएंगे. आज इस पार्टी का पूरे देश पर कब्जा है. ऐसे में अपनी बात से पीछे हटना राजनीतिक नपुंसकता है.'

दूसरे नेता भी संगीत सोम के बयान पर पलटवार कर रहे हैं.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तंज़ किया कि वो दिन दूर नहीं जब बीजेपी देश का नाम बदलने की कोशिश करेगी.

'क्या मोदी लाल किला से तिरंगा फहराना छोड़ देंगे?'

उन्होंने बीजेपी पर राजनीतिक एजेंडे के तहत विभाजनकारी बयान देने का आरोप लगाया.

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने संगीत सोम के विवादित बयान पर प्रतिक्रिया दी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ओवैसी ने कहा कि लाल किला भी 'गद्दारों' ने ही बनवाया है तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वहां झंडा फहराना बंद कर देंगे?

इमेज कॉपीरइट Owaisi

वहीं बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी संगीत सोम का बचाव करते हुए नज़र आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि संगीत सोम ने सिर्फ अपना एक विचार रखा, इसमें कोई विवाद नहीं होना चाहिए.

'...तो भाजपा नेता रोमांस के दुश्मन हैं?'

जेडीयू के वरिष्ठ नेता पवन वर्मा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बेशक हम एनडीए में बीजेपी के सहयोगी है लेकिन बीजेपी नेता संगीत सोम की टिप्पणी को निंदनीय मानते हैं.

बीजेपी विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को देश के इतिहास का हिस्सा मानने पर आपत्ति जताई है. मेरठ में एक सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ''कैसा इतिहास? उसको बनाने वाला हिंदुओं को मिटाना चाहता था.''

संगीत सोम कहते हैं, ''कुछ लोगों को दर्द हुआ कि आगरा का ताजमहल ऐतिहासिक स्थलों में से निकाल दिया गया है. कैसा इतिहास, कहां का इतिहास कौन सा इतिहास. उसको बनाने वाला हिंदुओं का सफाया करना चाहता था.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा, ''ऐसे लोगों का नाम अगर इतिहास में होगा तो ये दुर्भाग्य की बात है. मैं गारंटी के साथ आपसे कहता हूं इतिहास बदला जाएगा. इतिहास बदल रहा है. पिछले बहुत सालों में देश और उत्तर प्रदेश में जो इतिहास बिगाड़ने का काम हुआ है, आज हिन्दुस्तान और उत्तर प्रदेश की सरकार उस इतिहास को किताबों में लाने का काम कर रही है.''

बीजेपी विधायक ने कहा, ''हमारी सरकार राम से लेकर महाराणा प्रताप और शिवाजी तक का इतिहास किताबों में लाने का काम कर रही है. और जो कलंक कथा किताबों में लिखी गई है, वो चाहे अकबर के बारे में हो, औरंगजेब के बारे में हो, चाहे बाबर हो उनके इतिहास को निकालने का काम कर रही है सरकार.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए