मध्य प्रदेश की 'विश्वस्तरीय' सड़कें जो सीएम शिवराज ने शायद नहीं देखीं

  • 25 अक्तूबर 2017
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/@risk_314
Image caption सतना-रीवा-चकघाट हाइवे

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अमरीका में कहा है कि मध्य प्रदेश की सड़कें अमरीका की सड़कों से बेहतर हैं.

अमरीका में भारतीय मूल के उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा, "हमने सड़कें बनाईं, सड़कें भी ऐसी मित्रों, जब मैं यहां वॉशिंगटन के एयरपोर्ट पर उतरा और सड़कों पर चलकर आया तो मुझे लगा कि मध्य प्रदेश की सड़कों अमरीका की सड़कों से ज़्यादा बेहतर हैं. मैं ये बात कहने के लिए नहीं कह रहा हूं."

राजधानी भोपाल की वीआईपी रोड काफ़ी बेहतर है. शिवराज सिंह चौहान जब मध्य प्रदेश की सड़कों की तुलना वाशिंगटन की सड़कों से कर रहे थे शायद तब उनके ज़ेहन में वीआईपी रोड ही रही होगी.

'शिवराज के इस्तीफ़े के लिए शिवराज का अनशन'

'...कोई पत्थर से ना मारे मेरे किसानों को'

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption राजधानी भोपाल को एयरपोर्ट से जोड़ने वाली वीआईपी रोड काफ़ी बेहतर है

अब मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद लोग सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश की सड़कों की तस्वीरें शेयर कर पूछ रहे हैं कि क्या इन सड़कों की बात कर रहे थे शिवराज सिंह चौहान?

साथ ही बहुत से लोगों ने मुख्यमंत्री के इस बयान से पहले भी उन्हें ट्विटर पर टैग करते हुए मध्य प्रदेश की सड़कों की ओर उनका ध्यान खींचने की कोशिश की है.

मिलिंद गुप्ते ने मध्य प्रदेश के राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 12 की तस्वीर साझा करते हुए पूछा, "इतनी बकवास कहां से लाते हो यार?"

इमेज कॉपीरइट Twitter.com/MilindGupte14
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/vinaygoel15
Image caption विनय गोयल ने सतना चित्रकूट हाइवे की ये तस्वीर ट्वीट करते हुए चुटकी ली, "ये लॉस एंजिल्स से वेगास हाइवे है."
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/RohitAgnibhoj
Image caption रोहित अग्नीभोज ने मुख्यमंत्री को ग्वालियर की एबी रोड की ये तस्वीर दिखाई है.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/AcmatixJoshi
Image caption पीयूष जोशी ने अहमदाबाद से इंदौर के बीच की इस सड़क की तस्वी साझा करते हुए कहा है कि 60 प्रतिशत सड़क तो वास्तव में सड़क है ही नहीं.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/rish_314
Image caption पीयूष पांडे ने रीवा चकघाट हाइवे की ये तस्वीरें साझा करते हुए सवाल किया था, सड़क का काम पांच साल से रुका है, पब्लिक मरे तो मरे सरकार को क्या?
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/Jazz_theTrue
Image caption जे जेज़ के नाम से चल रहे ट्विटर अकाउंट से इंदौर-हरदा हाइवे की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की गई.
इमेज कॉपीरइट Twitterc.om/shailesh43
Image caption शैलैश तिवारी सितंबर में इंदौर भोपाल एक्सप्रेसवे की ये तस्वीर मुख्यमंत्री को ट्वीट करते हुए हाइवे को जानवरों से मुक्त कराने की अपील की थी.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/akashch85736027
Image caption आकाश चौहान ने 18 अक्तूबर को रायसेन ज़िले के 'डिजीटल गांव' बाबई की ये तस्वीर पोस्ट करते हुए मुख्यमंत्री से कहा था, 'सर रोड तो बनवा दो कम से कम...'

संगीता शर्मा ने वीडियो शेयर कर भवानी मंडी से उज्जैन के बीच के राज्यमार्ग 27 का हाल दिखाया है.

इमेज कॉपीरइट Twitter.com/@jainendra801
Image caption जैनेंद्र चतुर्वेदी ने 15 अक्तूबर को मुख्यमंत्री को किए ट्वीट में रीवा ज़िले के अपने गांव की इस सड़क को बनवाने की गुहार लगाई थी.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/@sawhney_d
Image caption दीपक साहनी ने 18 सितंबर को खजुराहो से देवेंद्र नगर के रास्ते सतना तक जाने वाली सड़क की ये तस्वीर दिखाते हुए पूछा, 'शिवराज चौहान जी क्या आप इस रास्ते से खजुराहो जाना चाहेंगे?'
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/vikasSh11
Image caption विकास श्रीवास्तव ने मुख्यंत्री का ध्यान चार महीने में ही टूट गई इस सड़क की ओर खींचने की कोशिश की.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/Kw_Saa
Image caption राम बांका राठौर ने अपने गांव की इस 'विश्वस्तरीय' सड़क की तस्वीरें मुख्यमंत्री को दिखाई थी.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/MamarManish
Image caption मनीश मामार ने मुख्यमंत्री को ज़िला नरसिंहपुर की ये सड़क दिखाई.
इमेज कॉपीरइट Twitter.com/piyushgolchha
Image caption पियूष ने वारासिवनी की सड़क की ये तस्वीर मुख्यमंत्री को ट्वीट की थी.

सड़क हादसे

भारत सरकार के सड़क परिवहन और हाइवे मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2015 में सड़क हादसों के मामले में मध्य प्रदेश तमिलनाडु और महाराष्ट्र के बाद तीसरे नंबर पर था. मध्य प्रदेश में कुल 54,947 सड़क हादसे हुए थे. सड़क हादसों में मौत के मामलों में मध्य प्रदेश उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, कर्नाटक और राजस्थान के बाद छठे नंबर पर था. यहां 2015 में कुल 9314 लोग सड़क हादसों में मारे गए थे. पूरे देश में होने वाले कुल सड़क हादसों के 11 प्रतिशत हादसे सिर्फ़ मध्य प्रदेश में हुए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे