हमें अपने चुनावों में न घसीटे भारत: पाकिस्तान

  • 11 दिसंबर 2017
भारत पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Getty Images

गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान नरेंद्र मोदी के उस आरोप ने खलबली मचा दी है जिसमें उन्होंने गुजरात चुनाव में पाकिस्तान के दख़ल देने की बात कही है.

उन्होंने पाकिस्तान के अहमद पटेल को मुख्यमंत्री बनाने के लिए समर्थन से लेकर कांग्रेस और पाकिस्तान के पूर्व अधिकारियों के बीच मिलीभगत के आरोप लगाए.

अब पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने इस मसले पर अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि भारत को अपने चुनावों में पाकिस्तान को नहीं घसीटना चाहिए.

मोदी बार-बार फ़तवा क्यों बोल रहे हैं?

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैज़ल ने ट्वीट किया है, 'भारत को अपनी चुनावी बहस में पाकिस्तान को घसीटना बंद करना चाहिए और पूरी तरह आधारहीन व गैर-जिम्मेदार साजिशें रचने के बजाय अपनी ताकत पर जीत हासिल करनी चाहिए.'

इमेज कॉपीरइट Twitter

इस मसले पर ट्वीटर पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दीं.

एक यूज़र कनन ने मोहम्मद फैज़ल से पूछते हुए लिखा है, 'आपको इस बैठक से इनकार करना चाहिए था. लेकिन आपने नहीं किया क्योंकि वो सच था. पाकिस्तान में कोई चुनाव भारत का नाम इस्तेमाल किए बिना नहीं होता.'

इसके जवाब में एक यूजर चंदन मुखोपाध्याय ने ट्वीट किया, 'क्या आप भारत को पाकिस्तान जैसा बनाना चाहते हैं.'

भाजपा को चुनावों में पाकिस्तान क्यों याद आता है?

इसी यूजर ने आगे लिखा है, 'भारत के पक्ष और विरोध में हो रही किसी भी बातचीत में भारत के प्रधानमंत्री को चुनावी फायदे के लिए उसमें शामिल हो जाना चाहिए?'

सौरव चैटर्जी ने सवाल पूछा है, 'आपकी सेना के पूर्व डायरेक्टर-जनरल अरशद रफीक़ के अहमद पटेल को समर्थन करने वाले बयान पर आप 10 दिनों से शांत क्यों थे.'

एक अन्य यूजर दीपक ने ट्वीट किया है, 'आपकी टीम 6 दिसंबर 2017 को अय्यर के घर पर क्या कर रही थी? आपको सलाह देने से पहले इसका जवाब देना चाहिए.'

दुबई में रहने वाले एक यूजर मरूफ हुसैन सब्री ने लिखा है, 'पाकिस्तान में हमारे बारे में क्या? हम खुद इसी कारण से भारत को कई चीजों में घसीटते हैं. मुझे लगता है कि यह दोनों जगह चलता है इसलिए शिकायत न करें.'

नरेंद्र मोदी ने रविवार को बनासकांठा के पालनपुर की एक चुनावी रैली में कहा कि पाकिस्तान गुजरात चुनाव में कांग्रेस के साथ मिलकर हस्तक्षेप कर रहा है और पाकिस्तान के एक पूर्व अधिकारी चाहते हैं कि कांग्रेस नेता अहमद पटेल गुजरात के अगले मुख्यमंत्री बनें.

मणिशंकर के घर हुई कथित 'गुप्त' बैठक का सच!

मोदी ने कहा था, ''मीडिया में ऐसी ख़बरें थी कि मणिशंकर अय्यर के घर एक गुप्त बैठक की गई जिसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त समेत, पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व उप राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल हुए.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तानी सेना के पूर्व डायरेक्टर जनरल सरदार अरशद रफ़ीक़ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं.

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी के इस दावे को बेबुनियाद बताया है. सुरजेवाला ने कहा कि देश के सर्वोच्च पद पर बैठकर मोदी जी बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं.

उनके बयान की कोई सच्चाई या तथ्य नहीं हैं. यह व्यवहार प्रधानमंत्रीक को शोभा नहीं देता है.

मोदी जी चिंतित, हताश और गुस्से में हैं। ऐसे बयान में कोई सच्चाई या तथ्य नहीं है और यह झूठ पर आधारित है। ऐसा व्यवहार प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता।'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे