चीन में सड़कों पर अपना दूध बेच रही है महिला

  • 5 फरवरी 2018
चीन, ब्रेस्टफीडिंग इमेज कॉपीरइट PEAR VIDEO

चीन में एक मां का अपनी बेटी के इलाज के पैसे जुटाने के लिए सड़क पर अपना ब्रेस्ट मिल्क बेचना सोशल मीडिया पर चर्चा में है.

मियाओ वीडियो वेबसाइट पर एक वीडियो पोस्ट किया गया है.

इसमें एक माता-पिता ये बता रहे हैं कि उन्हें अपनी एक बच्ची के इलाज के लिए कम से कम एक लाख युआन (करीब दस लाख 17 हज़ार रुपये) की जरूरत है. उनकी बेटी आईसीयू में भर्ती है.

चीन के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ​वीबो पर इस वीडियो के शेयर होने के बाद से 24 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है और इस पर 5000 कमेंट्स आ चुके हैं.

ये वीडियो बच्चों के एक पार्क में फ़िल्माया गया है, जो चीन के गुवान्डूंग प्रांत के एक बड़े शहर शेंजन में स्थित है.

मां का कहना है कि वह जल्दी पैसा इकट्ठा करने के लिए अपना दूध बेच रही हैं क्योंकि उनकी एक बेटी आईसीयू में भर्ती है.

बच्ची के पिता ने बताया कि उन्हें अस्पताल में 'एक लाख युआन' चुकाने हैं. डॉक्टर ने कहा है कि बच्ची के इलाज के बाद हमें ये भुगतान करने के लिए तैयार रहना होगा.

​हाल के कुछ वर्षों में चीन में स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाए गए हैं क्योंकि यहां मेडिकल सेंटर्स पर दबाव बहुत बढ़ गया है और लोग लाइन से बचने के लिए ​अतिरिक्त पैसे तक देते हैं.

दान में मां का दूध: फ़ेसबुक पर बना ग्रुप

महिलाएं बेच रही हैं अपना दूध, बढ़ा विवाद

इमेज कॉपीरइट PEAR VIDEO
Image caption शेंजेन ऑनलाइन प्रेस ऑफिस ने ऑनलाइन पोस्ट किया है कि महिला की पहचान कर ली गई थी और कहानी सच थी

लोग कर रहे हैं अपील

इस वीडियो पर लोगों ने भावुक प्रतिक्रियाएं दी हैं और इस शेयर करते हुए ये लिख रहे हैं, 'सेल मिल्क, सेव गर्ल'.

यूजर्स उस जगह के पास से गुजरने वाले लोगों से 'माता-पिता को पैसे देने' की अपील की. साथ ही कुछ ने कहा कि अगर उन्हें माता-पिता दिखे तो वो जरूर उनकी मदद करेंगे.

हालांकि, कुछ यूजर्स ऐसे भी थे जिन्होंने माता​-पिता के प्रति ज्यादा सहानुभूति नहीं दिखी. एक शख्स ने ब्रेस्ट मिल्क बेचने को ''मदद मांगने का एक अश्लील तरीका'' कहते हुए इसे गलत बताया.

एक अन्य व्यक्ति ने लिखा, "सभी समझ सकते हैं कि आप मजबूर हैं और आपको मदद की सख्त जरूरत है लेकिन अपना दूध बेचकर आप अपनी प्रतिष्ठा कैसे बनाए रख सकते हैं."

लेकिन एक व्यक्ति ने विरोध में आ रहे कॉमेंट्स की आलोचना की और कहा, "यह कई बेबस मां-बाप का प्यार है... जो लोग उन्हें लेकर गलत बोल रहे हैं उन्हें सोचना चाहिए कि अगर वो तुम्हारी औलाद होती तो क्या तुम अपना चेहरा बचाते या अपने बच्चे की ज़िंदंगी?"

केरी एलेन, बीबीसी मॉनिटरिंग और टॉम गर्कन, यूजीसी एंड सोशल मीडिया

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए