सोशल: श्रीदेवी पर ट्वीट से कांग्रेस की किरकिरी

  • 25 फरवरी 2018
श्रीदेवी इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption श्रीदेवी की मौत पर कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से हुआ था ट्वीट

फ़िल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की मौत के बाद कांग्रेस पार्टी का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर उसकी किरकिरी का कारण बन गया.

सोशल मीडिया पर कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल का एक ट्वीट चर्चा का विषय बना है.

दरअसल, 54 वर्षीय अभिनेत्री की मौत के बाद रविवार को कांग्रेस ने सुबह-सुबह अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया था जिसमें लिखा गया था, "श्रीदेवी के निधन के बारे में सुनकर हमें अफ़सोस है. एक श्रेष्ठ अभिनेत्री. एक दिग्गज जो हमारे दिलों में अपने काम के माध्यम से जीवित रहेंगी. उनके प्रियजनों के साथ हमारी गहरी संवेदनाएं हैं. 2013 में यूपीए सरकार द्वारा उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था."

हालाँकि, कुछ देर बाद ही कांग्रेस ने ये ट्वीट डिलीट कर दिया.

आख़िर श्रीदेवी की मौत कैसे हुई?

कैसे श्रीदेवी बोनी कपूर की होती चली गई थीं...

राहुल गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष पद देने की आलोचना करते रहे शहज़ाद पूनावाला ने इस पर ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल शहज़ाद जय हिंद से ट्वीट किया, "दुखद है कि राहुल गांधी की टीम मौत पर भी एक राजनीतिक पूंजी जमा करने की कोशिश कर रही है. लेकिन किसी को हैरानी हुई कि वो ऐसा करेंगे?"

गीतिका नामक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया, "लाशों पर राजनीति करने में कांग्रेस के पास पीएचडी है. श्रीदेवी को भी नहीं बख़्शा.

इतनी आलोचनाओं के बाद कांग्रेस ने ट्वीट तो डिलीट कर दिया, लेकिन सोशल मीडिया पर यह ट्रेंड होने लगा था. अंशुल सक्सेना नामक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया.

उन्होंने लिखा, "अभी श्रीदेवी पर किए गए ट्वीट को कांग्रेस ने डिलीट कर दिया है, लेकिन नुकसान हो चुका है. मौत पर राजनीति को भी इन्होंने नहीं बख़्शा. यही आपने भारत के साथ किया, अन्यायपूर्ण शासन और उसके बाद अपने सभी बुरे कामों, तथ्यों और इतिहास को डिलीट कर दिया."

कांग्रेस ने ट्वीट तो डिलीट कर दिया, लेकिन इसके बाद कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से श्रीदेवी को लेकर कई ट्वीट किए गए. जो ट्वीट डिलीट किया गया था वैसा ही ट्वीट दोबारा किया गया जिसमें वही तस्वीर थी लेकिन यूपीए द्वारा पद्म पुरस्कार दिए जाने वाली लाइन हटा दी गई थी.

इसके बाद कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा श्रीदेवी को पद्मश्री दिए जाने की तस्वीर भी ट्वीट की गई. इसमें लिखा गया, "उनको कई पुरस्कार मिले जिसमें उनको 2013 में भारत सरकार द्वारा दिया गया देश का चौथा सर्वोच्च पुरस्कार पद्मश्री शामिल है. उन्हें छह फिल्मफेयर पुरस्कार मिले, पहला उन्हें 14 साल की उम्र में मिला. 'थुनैवन' से चार साल की उम्र में उन्होंने अपना करियर शुरू किया था. 12 साल की उम्र में 'जूली' से उन्होंने अपना बॉलीवुड डेब्यू किया."

ट्वीट करने का सिलसिला यहीं नहीं थमा. कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से दो और ट्वीट किए गए जिसमें बताया गया कि वह एक शानदार अभिनेत्री थीं जिन्होंने तमिल, तेलुगू, हिंदी, मलयाली और कन्नड़ फ़िल्मों में काम किया.

आख़िरी ट्वीट में बताया गया कि 15 साल के ब्रेक के बाद 2012 में उन्होंने इंग्लिश-विंग्लिश फ़िल्म से वापसी की थी, वह भारत की पहली फ़ीमेल सुपरस्टार थीं और वह याद आएंगी.

'मैं श्रीदेवी से नफ़रत करता हूं क्योंकि...'

श्रीदेवी के बारे में दस अनजानी बातें

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए