सोशल: महिला दिवस पर ट्वीट कर 'फँसी' कांग्रेस!

  • 8 मार्च 2018
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट TWITTER/CONGRESS

8 मार्च को दुनिया के कई देशों में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है.

महिला दिवस पर भारत में कई जगह सार्वजनिक कार्यक्रम हो रहे हैं. सोशल मीडिया पर भी #WomensDay टॉप ट्रेंड है.

इन सबके बीच कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से शुरू किया पोल कुछ लोगों को अखर रहा है.

कांग्रेस के हैंडल से लिखा गया, ''आप इस महिला दिवस को कैसे मनाएंगी?

  • 1. पसंदीदा ड्रिंक पीकर
  • 2. ज़ोर से ठहाके लगाकर
  • 3. देर रात तक मटरगश्ती करके
  • 4. उपरोक्त सभी''

इस ख़बर को लिखे जाने तक इस पोल में क़रीब 4200 लोग वोट कर चुके हैं. इनमें कुछ महिलाएं इस पोल पर आपत्ति जता रही हैं.

हर्षिता वाराणसी लिखती हैं, ''प्रिय कांग्रेस, हम महिलाएं आपके बताए इन बेतुके तरीकों से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस नहीं मनाती हैं. इसकी बजाय हम रोज़ मेहनत कर खुद को साबित करते हुए सफल होती हैं. आपकी पार्टी के अध्यक्ष की तरह नहीं, जो 47 साल की उम्र में भी परिपक्व दिखने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

अमृता भिंडर हैरानी जताते हुए लिखती हैं, ''क्या वाक़ई ये करना ही महिला सशक्तिकरण है?''

हेमा ट्वीट करती हैं, ''मुझे इस बात पर हैरानी हो रही है कि ये कैसे घटिया विकल्प दिए गए हैं.''

अंजलि कांग्रेस के ट्वीट पर जवाब देती हैं, ''कांग्रेस के सोशल मीडिया प्रमुख का दिमाग जगह पर नहीं है. संस्कारों वाला इंसान इस दिन को अपनी मां के साथ यादों को याद करते हुए और खाते पीते गुज़ारेंगे. मां, बहन के लिए खाना बनाएँगी. एक ग़रीब महिला की शिक्षा, स्वास्थ्य और रुपयों से मदद करेंगे.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

पीयू नायर लिखती हैं, '''इनमें से एक भी नहीं' विकल्प कहां है?''

अंशु रस्तोगी ने ट्वीट किया, ''शायद आप भूल गए. किसी भी शुभ अवसर पर मंदिर जाकर प्रार्थना की जाती है. हमारी संस्कृति में शराब और अय्याशी की कोई जगह नहीं है.''

कुछ ऐसे भी महिलाएं हैं, जो कांग्रेस के महिला दिवस मनाने के लिए दिए सुझावों से सहमत नज़र आईं.

मीका मेहता लिखती है, ''वाह क्या पोल है. राहुल गांधी की तरह ये वाक़ई आधुनिक है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए