कश्मीर पर अफ़रीदी का ट्वीट और गंभीर का जवाब

  • 4 अप्रैल 2018
शाहिद अफ़रीदी और गौतम गंभीर इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption शाहिद अफ़रीदी के ट्वीट के बाद गौतम गंभीर ने ट्वीट किया था

पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफ़रीदी की सोशल मीडिया पर कुछ लोग तारीफ़ कर रहे हैं तो कुछ उन्हें आड़े हाथों ले रहे हैं.

इसकी वजह है भारत प्रशासित कश्मीर को लेकर किया गया उनका एक ट्वीट, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि भारत प्रशासित कश्मीर में भय पैदा करने वाले हालात हैं इसलिए संयुक्त राष्ट्र (यूएन) को यहां बीच-बचाव करना चाहिए.

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफ़रीदी ने मंगलवार को ट्वीट किया, "भारत प्रशासित कश्मीर में भय पैदा करने वाले हालात हैं. स्थिति बेहद ख़राब है. बेगुनाहों को गोली मारी जा रही है ताकि एक स्वतंत्र आवाज़ को दबाया जा सके. कहां है यूएन और दूसरी अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं? वो क्यों इस ख़ूनखराबे के ख़िलाफ़ कुछ नहीं बोलते?"

समर्थन और विरोध में ट्वीट

अफ़रीदी ने यह ट्वीट किया ही था कि इसके समर्थन और विरोध में कई ट्वीट आने लगे.

सुनीत श्रीवास्तव ने उनके ट्वीट पर कमेंट किया, "सम्मानित व्यक्ति और क्रिकेटर होते हुए आपको राजनीतिक परिस्थितियों में लिप्त नहीं होना चाहिए और पाकिस्तान की बेहतरी पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए."

आबिद बुहरू ने लिखा, "दिल से इतनी सहानुभूति दिखाने के लिए शुक्रिया शाहिद भाई."

अफ़रीदी के इस ट्वीट पर यूं तो हज़ारों जवाब आए. कुछ लोगों ने अफ़रीदी की बात को सही भी ठहराया. लेकिन उस पर 'गुगली' फेंकी भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने.

गौतम गंभीर ने ट्वीट किया, "मीडिया के लोगों ने मुझसे हमारे कश्मीर के बारे में अफ़रीदी ने जो ट्वीट किया है, उस पर टिप्पणी करने को कहा है और यूएन पर भी. क्या कहा जाए? अफ़रीदी उस यूएन के ज़िक्र कर रहे हैं, जिसका मतलब 'अंडर नाइनटीन' से है. मीडिया आराम कर सकता है, शाहिद अफ़रीदी नो-बॉल पर विकेट लेकर जश्न मना रहे हैं."

लेकिन लोगों ने गौतम गंभीर को भी नहीं छोड़ा. कुछ उनके समर्थन में कमेंट करने लगे तो कई उन्हें इतिहास बताने लगे.

गिज ख़ान ने लिखा, "हमारा कश्मीर से आपका क्या मतलब है? क्या आपको पता है अफ़रीदी भाई खास पठान जनजाति से संबंध रखते हैं जिसने 1948 में भारत प्रशासित सुरक्षाबलों से आज़ाद कश्मीर को मुक्त कराया था. बहरहाल मैं जल्द आज़ाद कश्मीर में संपत्ति ख़रीदने जा रहा हूं. रोक सको तो रोक लो."

वहीं, कुछ लोगों ने बलूचिस्तान में पाकिस्तान के कथित अत्याचारों की भी बात उठाई. सुदीप सेनगुप्ता ने लिखा है, "गौतम गंभीर क्या बात कही आपने. क्या मुंहतोड़ जवाब दिया है. दादा, मैं भी यही सोचता हूं कि हमें बलूचिस्तान के लोगों के ख़िलाफ़ अत्याचारों का जवाब ट्वीट से देना चाहिए."

शाहिद अफ़रीदी के ट्वीट को जहां साढ़े चार हज़ार लोगों ने री-ट्वीट और 11 हज़ार लोगों ने लाइक किया है. वहीं, गौतम गंभीर के ट्वीट को 10 हज़ार से अधिक लोग री-ट्वीट और 22 हज़ार से अधिक लोग लाइक कर चुके हैं.

अफ़रीदी के ट्वीट के जवाब में कुछ लोग उनके एक पुराने वीडियो और तस्वीर को भी ट्वीट कर रहे थे जिसमें उन्होंने भारतीय प्रशंसकों और तिरंगे के साथ स्विट्ज़रलैंड में तस्वीर खिंचवाई थी.

कुछ लोगों का कहना था कि अफ़रीदी तुरंत पलट जाते हैं. इन सबके बाद शाहिद अफ़रीदी ने मंगलवार रात को एक और ट्वीट किया. जिसमें उन्होंने भारतीय प्रशंसकों और तिरंगे के साथ ली गई तस्वीर को भी अपलोड किया.

उन्होंने ट्वीट किया, "हम सबका सम्मान करते हैं. और यह एक खिलाड़ी होने का उदाहरण है. लेकिन बात जब मानवाधिकारों पर आती है तो हम उम्मीद करते हैं कि हमारे निर्दोष कश्मीरियों के लिए भी ऐसा ही होगा."

कौन हैं बाबर आज़म, जो नए कोहली बताए जा रहे हैं

क्या बॉल टैम्परिंग कर मैच जीता जा सकता है?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे