सोशल: कर्नाटक में बीजेपी खुद को ही दे रही है अड़ंगी?

  • 23 अप्रैल 2018
अमित शाह और मोदी इमेज कॉपीरइट Twitter/AmitShah/BBC

कर्नाटक में सत्ता पाने के लिए बीजेपी इन चुनावों में हर संभव कोशिश कर रही है.

लेकिन कांग्रेस से सत्ता छीनने और चुनावी तैयारियों के बीच बीजेपी से कुछ चूक भी हो रही हैं. ये चूक ऐसी हैं जो बीजेपी के लिए 'सेल्फ गोल' साबित हो रही हैं.

ये ग़लतियां पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से लेकर सोशल मीडिया पर बीजेपी की ओर से हो रही हैं. ताज़ा चूक बीजेपी कर्नाटक के ऑफ़िशियल ट्विटर से हुई है.

बीजेपी कर्नाटक के ऑफ़िशियल ट्विटर हैंडल से लिखा गया, ''पीएम मोदी एक मई 2018 को उडुपी का दौरा करेंगे. मोदी आ रहे हैं.''

इस ट्वीट के साथ एक तस्वीर भी अपलोड की गई है.

ये तस्वीर एचबीओ की लोकप्रिय टीवी सिरीज़ 'गेम ऑफ थ्रोन्स' के एक सीन की है. इस सीन में सिरीज़ का अहम किरदार नेड स्टार्क तलवार पकड़े खड़ा है.

चूक ये है कि जिस किरदार की तस्वीर को बीजेपी के ट्विटर हैंडल से 'मोदी इज कमिंग' कैप्शन के साथ अपलोड किया गया, उस किरदार की सिरीज़ में गर्दन काट दी गई थी.

ज़ाहिर सी बात है कि इस पर आम लोगों का ध्यान जाना ही था.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption गेम ऑफ़ थ्रोंस में किरदार नेड स्टार्क की गर्दन काट दी गई थी.

संतोष नाम के यूज़र ने बीजेपी को जवाब देते हुए कहते हैं, ''इस तस्वीर को हटाइए प्लीज. इसका कोई मतलब नहीं निकलता है. नेड स्टार्क की इस सिरीज़ में गर्दन काट दी गई थी.''

सूर्यनारायण गणेश सिरीज़ से नेड स्टार्क की गर्दन काटने वाला सीन शेयर करते हुए लिखते हैं, ''आप लोगों नरेंद्र मोदी के लिए ऐसा क्यों चाह रहे हैं. ऐसा तो हम भी नहीं करते.''

इमेज कॉपीरइट Twitter/AmitShah/BBC

मोदी का तर्क और बीजेपी का चुनावी वादा...

कुछ दिन पहले लंदन दौरे पर पीएम मोदी ने कहा था, ''रेप जैसे मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. रेप तो रेप होता है.''

लेकिन बीजेपी कर्नाटक ने इस बयान के कुछ दिनों के भीतर ही एक ऐसा काम किया, जो सोशल मीडिया पर कुछ लोगों को अखरने लगा.

वजह रही बीजेपी का कर्नाटक के अख़बारों में दिया एक विज्ञापन.

इस विज्ञापन में पीएम मोदी की तस्वीर और रेप के आंकड़े पेश किए गए हैं. साथ में लिखा है, ''महिलाएं और बच्चे डर में जी रहे हैं और सिद्धा सरकार गहरी नींद में है.''

ट्विटर हैंडल @IQnEQ से लिखा गया, ''बीजेपी कर्नाटक इस ऐड में मोदी की तस्वीर इस्तेमाल कर रही है. मिस्टर प्राइम मिनिस्टर, क्या ये रेप पर राजनीति करना है या नहीं?''

इमेज कॉपीरइट Twitter/AmitShah/BBC

अपने ही आदमी को भ्रष्ट बता गए शाह!

तारीख़ 27 मार्च 2018.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे. इस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमित शाह कांग्रेस पर आरोप लगाते एक वाक्य को पूरा करते हुए बीच में कहीं भटक गए.

शाह ने कहा, ''भ्रष्टाचार के लिए अगर स्पर्धा कर ली जाए तो येदियुरप्पा सरकार को भ्रष्टाचार में नंबर वन सरकार का अवॉर्ड ज़रूर मिलेगा...''

अमित शाह ने जैसे ही अपनी ये बात पूरी की, तभी उनके बाईं ओर बैठे कर्नाटक के पूर्व प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष प्रह्लाद जोशी ने कहा- 'सिद्धारमैया बोलना है.'

तब अमित शाह ने ग़लती दुरुस्त करते हुए कहा, "सबसे भ्रष्ट सरकार होने का ये आरोप मैं ख़ुद से नहीं लगा रहा. एक रिटायर्ड सुप्रीम कोर्ट ने जज ने सिद्धारमैया सरकार के बारे में ऐसी टिप्पणी की है."

लेकिन अमित शाह का ये वीडियो तब तक वायरल हो चुका था.

इमेज कॉपीरइट Twitter/AmitShah/BBC

'मोदी ग़रीबों के लिए कुछ नहीं करेंगे'

मार्च के महीने में ही अमित शाह एक रैली में फिर से चूक गए. वो हिंदी में भाषण दे रहे थे.

अमित शाह ने कहा, ''सिद्धारमैया सरकार कर्नाटक में विकास नहीं कर पाई. आप पीएम मोदी पर यकीन रखकर येदियुरप्पा को अपना वोट दीजिए. हम कर्नाटक को नंबर एक राज्य बनाएंगे.''

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, वहां खड़े बीजेपी सांसद प्रहलाद जोशी ने इसका कन्नड़ में अनुवाद कुछ यूं किया, ''पीएम मोदी ग़रीबों के लिए कुछ नहीं करेंगे. वो देश को बर्बाद कर देंगे.''

दिलचस्प ये है कि ये वही प्रहलाद जोशी थे, जिन्होंने दो दिन पहले ही अमित शाह की येदियुरप्पा को भ्रष्ट बताने की ग़लती दुरुस्त की थी.

कर्नाटक: अमित शाह पर भारी पड़े दलितों के सवाल

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए