मोदी-नीतीश ने उनको दी श्रद्धांजलि, जो ज़िंदा हैं

  • 4 मई 2018
मोदी और नीतीश इमेज कॉपीरइट Pib

एक ऐसा हादसा जिस पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव '27 लोगों के मारे जाने' को लेकर दुख जता चुके हैं.

बिहार के मोतिहारी में हुए उस बस हादसे में किसी की मौत नहीं हुई है. ऐसा कहना है पूर्वी चंपारण के एसपी उपेंद्र कुमार शर्मा का. वहीं बिहार के आपदा प्रबंधन मंत्री दिनेश चंद्र यादव ने भी मीडिया से कहा, ''हादसे में 27 लोगों के मरने की जो ख़बर आई थी, वो ग़लत थी.''

इमेज कॉपीरइट PIB

दिनेश चंद्र यादव ने आगे कहा, ''मैंने कल 27 लोगों के मरने का जो बयान दिया था. बस के जलने के बाद जो सूचना आई थी, उसी के बारे में बोला था. मैंने ये भी कहा कि जिलाधिकारी घटनास्थल की ओर बढ़ गए हैं. वहां घटनास्थल पर जाएंगे, जो उनकी रिपोर्ट होगी वही अंतिम रिपोर्ट होगी, मैंने ये भी साथ में कहा था. लेकिन मरने की जो सूचना थी वो सही नहीं थी. लेकिन कहीं घटना होती है तो लोग उसे अपने-अपने तरह के विश्लेषण करके उसी बात को आगे बढ़ाना चाहते हैं.''

वो आगे कहते हैं, ''13 व्यक्ति मुजफ्फरपुर से चले थे. आठ लोग अस्पताल पहुंचाए गए. पांच व्यक्ति की सूचना इसलिए नहीं है, क्योंकि अगर कोई व्यक्ति जलता है तो उसकी कुछ न कुछ हड्डी वगैरह बच ही जाता है. लंबे समय तक बस में आग तो लगी नहीं थी. स्थानीय विधायक सच्चिनंद्र से भी मेरी बात हुई. उन्होंने भी कहा कि यहां कुछ मिला ही नहीं, जो लोग मरने की बात कर रहे हैं.''

एसपी शर्मा ने स्थानीय पत्रकार मनीष शांडिल्य को बताया, ''कोई अवशेष नहीं मिले हैं. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि किसी की मौत नहीं हुई हो. हम लोग इस उम्मीद में हैं. अभी एफएसएल टीम आएगी तो वो बेहतर पुष्टि कर पाएगी. हम लोगों की काफी लोगों से बात हुई है. ऑनलाइन बुकिंग 13 की थी. जांच में अब तक ये बात निकलकर नहीं आई है कि कोई जल गया है.''

इमेज कॉपीरइट PIB

ये बस गुरुवार को बिहार के मुजफ्फरपुर से दिल्ली जा रही थी और रास्ते में हादसे का शिकार हो गई थी. मीडिया के एक हिस्से में इस ख़बर आने के बाद प्रमुख लोगों ने दुख ज़ाहिर करना शुरू कर दिया था.

मनीष शांडिल्य के मुताबिक़, ''बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश को इस हादसे के बारे में एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान पता चला. नीतीश ने इसी कार्यक्रम के दौरान घटना पर शोक जताया और मारे गए यात्रियों के लिए एक मिनट का मौन रखवाया.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

मुख्यमंत्री कार्यालय से एक प्रेस रिलीज जारी की. मुख्यमंत्री ने कहा, ''बिहार के इस हादसे में जो लोग मारे गए होंगे, उनके परिजनों को नियमानुसार आर्थिक मदद उपलब्ध करवाई जाएगी.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption नीतीश कुमार सरकार ने जारी की प्रेस रिलीज

इस हादसे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर दुख ज़ाहिर किया.

इमेज कॉपीरइट Twitter

हादसे को लेकर ट्वीट करने वालों में बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी रहे. सुशील कुमार मोदी ने लिखा, ''चंपारण में हुए बस हादसे से दुखी हूं. मरने वालों की संख्या 24 या उससे ज़्यादा हो सकती है. ये बस दिल्ली जा रही थी.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

मीडिया में आई ख़बरों के बाद तेजस्वी यादव ने भी ट्विटर पर लिखा, ''बिहार के मुजफ़्फ़रपुर से दिल्ली जा रही बस पलटने और उसमें आग लगने से 27 लोगों की मौत से दुखी हूं. मृतकों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

ये हादसा नेशनल हाईवे 28 पर पूर्वी चंपारण जिले के कोटवा थाना क्षेत्र के पास हुआ था.

वैसे इस हादसे में क्या वाकई किसी की जान गई है, इसका साफ-साफ तब पता चल पाएगा, जब फॉरेसिंक जांच की रिपोर्ट आएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए