पेट्रोल की बढ़ी कीमतों पर मोदी के गरजने से चुप्पी में जकड़ने तक

  • 22 मई 2018
पीएम मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

भारत में पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें बीते पांच साल के उच्चतम स्तर पर हैं.

14 सितंबर, 2013 को पेट्रोल की कीमत 76.06 रुपये प्रति लीटर थी. पांच साल बाद 21 मई, 2018 को दिल्ली में पेट्रोल की क़ीमत 76.57 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है.

पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों के बढ़ने की वजह अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की बढ़ी क़ीमत को बताया जा रहा है.

इसके अलावा डॉलर की तुलना में भारतीय रुपये में जारी गिरावट भी इसकी एक वजह है.

पेट्रोल और डीज़ल की खुदरा कीमत में अलग-अलग राज्यों में लगाए जाने वाले टैक्स का भी अहम रोल होता है.

अगर इन कीमतों से टैक्स निकाल दिया जाए तो कीमत कम हो जाएगी. पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी कीमतों की वजह से मोदी सरकार सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर है.

लोग उस दौर के वीडियो और ट्वीट शेयर कर रहे हैं, जब बीजेपी सत्ता में नहीं थी और नेता, अभिनेता पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी कीमतों को लेकर यूपीए सरकार को घेरा करते थे.

आइए आपको कुछ ऐसे ही पुराने बयान और ट्वीट पढ़वाते हैं, जब बीजेपी सत्ता में नहीं थी और पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतें मोदी समेत कई लोगों के लिए भी एक बड़ी समस्या थी.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@AlkaSaxena_
Image caption ट्विटर पर कुछ लोग ऐसे पोस्टर शेयर करके तंज कस रहे हैं

पेट्रोल-डीज़ल: बढ़ी कीमतों पर क्या-क्या बोले थे मोदी?

साल 2012 में जब मोदी गुजरात के सीएम थे और केंद्र में यूपीए की सरकार थी.

तब मोदी ने ट्वीट किया था, "पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी यूपीए की नाकामी है. इससे करोड़ों गुजरातियों पर असर पड़ेगा."

मई 2012 के एक दूसरे ट्वीट में मोदी ने लिखा था, "पेट्रोल की कीमतों को बढ़ाने का फैसला संसद के सत्र के खत्म होने के एक दिन बाद लेना संसद की गरिमा को चोट पहुंचाना है."

मोदी ने एक अगले ट्वीट में लिखा था, "यूपीए सरकार कसाईखानों को सब्सिडी देती है और डीज़ल की कीमतों को बढ़ाती है. क्या ये कांग्रेस की दिशा है?"

2014 में चुनावी प्रचार के दौरान 'बहुत हुई जनता पर पेट्रोल-डीज़ल की मार, अबकी बार मोदी सरकार' के भी पोस्टर जारी किए गए थे.

अगर बीजेपी के ऑफिशियल फेसबुक पेज और ट्विटर पर नज़र दौड़ाएं तो ये पोस्टर अब दिखाई नहीं देते हैं.

हालांकि सरकार बनने के बाद 2014 में एक बार पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में कमी आई थी.

तब पीएम मोदी ने ट्वीट किया था, "हमने जबसे सरकार बनाई है, तब से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी आई है. देश के सामने जो बाधाएं हैं, हम उसे हटाने के लिए प्रतिबद्ध हैं."

फ़रवरी 2015 में दिल्ली चुनावों से पहले पीएम मोदी ने एक रैली में कहा था, "अगर नसीब के कारण पेट्रोल-डीज़ल के दाम कम होते हैं तो बदनसीब को लाने की ज़रूरत क्या है."

इस बयान के संदर्भ में कुछ आलोचकों को कहना है कि शायद अब मोदी का नसीब काम नहीं कर रहा है, तभी पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें बढ़ रही हैं.

स्मृति इरानी ने भी 2011 में एक ट्वीट किया था.

इस ट्वीट में स्मृति ने लिखा था, "पेट्रोल की कीमतों में एक बार फिर वृद्धि. यूपीए लोगों की तकलीफों को नज़रअंदाज़ करती है. सत्ता की हेकड़ी है."

सुषमा स्वराज ने 2011 में लिखा था, "पेट्रोल कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी. असंवेदनशील सरकार की तरफ से आम लोगों को एक और झटका."

इमेज कॉपीरइट Twitter/Akshay Kumar

पेट्रोल की कीमतों पर गरजने वाले अभिनेता...

ट्विटर पर @swamv39 ने अक्षय कुमार के 2012 में किए गए एक ट्वीट को री-ट्वीट किया.

इस ट्वीट में फरवरी 2012 में अक्षय कुमार ने लिखा था, "दोस्तों, मुझे लगता है कि अब साइकिल साफ़ करके सड़क पर आने का वक्त आ गया है. सूत्रों के मुताबिक, एक बार फिर पेट्रोल की कीमतें बढ़ सकती हैं."

@swamv39 के इस ट्वीट को री-ट्वीट करने के कुछ देर बाद अक्षय कुमार अपना ये ट्वीट डिलीट कर देते हैं.

इस पर @swamv39 ने लिखा, "मेरे पसंदीदा खिलाड़ियों के खिलाड़ी ने अपना छह साल पुराना पेट्रोल पर किया फनी ट्वीट वायरल होने के बाद डिलीट कर दिया है."

हालांकि इसी ट्विटर थ्रेड में अक्षय कुमार का एक और पुराना ट्वीट सामने आता है.

इमेज कॉपीरइट TWITER

2011 में किए इस ट्वीट में अक्षय ने लिखा था, "पेट्रोल की कीमतों के बढ़ने के बाद मुंबई वाले लोग लाइन में लगे हुए हैं, मैं अपने घर तक नहीं पहुंच सका."

अक्सर राष्ट्रीय मुद्दों पर बोलने वाले एक्टर अनुपम खेर भी पेट्रोल-डीज़ल को लेकर हाल के दिनों में कुछ नहीं बोले हैं.

लेकिन उनका 2012 में किया एक ट्वीट कुछ लोग शेयर कर रहे हैं.

2012 के इस ट्वीट में खेर ने लिखा था, "मैंने अपने ड्राइवर से कहा- तुम लेट क्यों हो? उसने कहा- सर साइकिल से आया हूं. मैंने वजह पूछी तो वो बोला- सर वो शो पीस है, इसलिए घर पर है."

अमिताभ बच्चन ने भी 2012 में पेट्रोल को लेकर एक चुटकुला शेयर किया था.

अमिताभ ने लिखा था, "पेट्रोल 7.5 रुपये बढ़ गया है. पंप वाले ने कहा- कितने का डालूं. मुंबई वाले ने कहा- दो, चार रुपये का कार के ऊपर स्प्रे कर दे भाई, जलाना है."

ट्विटर पर एक यूज़र ने मोदी का पुराना वीडियो शेयर किया.

इस वीडियो में मोदी कहते नज़र आ रहे हैं, "देश में जिस तरह से पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए गए. ये दिल्ली सरकार की नाकामी का सबूत है. मैं आशा करूंगा कि प्रधानमंत्री जी देश की स्थिति को गंभीरता से लें और पेट्रोल के बढ़ाए दाम वापस लें."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत के पड़ोसी देशों में पेट्रोल की कीमतें

ग्लोबल पेट्रोल प्राइस के 14 मई 2018 तक के आंकड़ों के मुताबिक,

  • पाकिस्तान- 51.79
  • नेपाल- 67.46
  • श्रीलंका- 64
  • भूटान- 57.24
  • अफ़ग़ानिस्तान- 47
  • बांग्लादेश- 71.55
  • चीन- 81
  • म्यांमार- 44

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए