'हस्तमैथुन' के सीन पर सवाल उठाने वालों को स्वरा भास्कर का जवाब

  • 5 जून 2018
स्वरा भास्कर इमेज कॉपीरइट fb.com/SwaraBhaskar

बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर को एक बार फिर लोग सोशल मीडिया पर ट्रोल कर रहे हैं. हाल में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'वीरे दी वेडिंग' के एक सीन की वजह से लोग उन्हें निशाने पर ले रहे हैं.

दरअसल, फ़िल्म में स्वरा भास्कर को एक सीन में हस्तमैथुन करते दिखाया गया है. इस सीन को लेकर ट्विटर पर लोग आपत्ति जता रहे हैं. स्वरा के लिए आपत्तिजनक शब्दों का भी इस्तेमाल किया गया.

फ़िल्म में स्वरा के रोल को कुछ लोग लीक से हटकर और महिला सशक्तीकरण से भी जोड़ रहे हैं. स्वरा भास्कर ने आपत्ति जता रहे लोगों को स्पॉन्सर्ड क़रार दिया है.

इमेज कॉपीरइट fb.com/SwaraBhaskar

फ़िल्म के इस सीन को ट्विटर पर आरती अग्रवाल नाम की यूज़र ने सॉफ्ट पॉर्न क़रार दिया.

उन्होंने लिखा, ''स्वरा भास्कर का सॉफ्ट पॉर्न हॉलीवुड से कॉपी किया गया है, लेकिन इसे भारत में बैन नहीं किया गया....''

इमेज कॉपीरइट Twitter

@oversmartme नाम के ट्विटर हैंडल ने लिखा, ''स्वरा भास्कर का हस्तमैथुन वाला सीन बोल्ड है, लेकिन मिसाल नहीं. ऐसा करना फ़ेमिनिज़म को ठेस पहुंचाने जैसा है. स्क्रीन पर किसी पुरुष को भी ऐसा करते देखना किसी को पसंद नहीं. अगर ये फ़ेमिनिज़म है जो पॉर्न इंडस्ट्री में पहले ही कई फ़ेमिनिस्ट मिसाल पेश कर चुकी हैं.'

इमेज कॉपीरइट Twitter

कुछ यूज़र्स ने लिखा, ''स्वरा भास्कर, मैंने अपनी दादी के साथ फ़िल्म देखी और उस वक़्त शर्मसार हो गया जब हस्तमैथुन वाला सीन आया. बाहर निकलते ही दादी ने कहा, मैं हिंदुस्तान हूं और मैं फ़िल्म को लेकर शर्मिंदा हूं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

इस पर खुद स्वरा भास्कर ने लिखा, ''ऐसा लग रहा है किसी आईटी सेल ने या तो फ़िल्म के टिकट स्पॉन्सर किए हैं या फिर ट्वीट.'

इमेज कॉपीरइट Twitter

ट्विटर पर अक्षय कटारिया नाम के यूज़र ने लिखा, ''पैडमैन फ़िल्म में अक्षय कुमार का पैड पहनना, स्वरा भास्कर के 'वीरे दी वेडिंग' में हस्तमैथुन करने से कहीं बड़ी मिसाल है.''

फ़िल्म 'वीरे दी वेडिंग' में स्वरा के अलावा करीना कपूर, सोनम कपूर और शिखा तलसानिया भी हैं. फ़िल्म चार लड़कियों पर आधारित है जो ज़िंदगी को अपनी शर्तों पर जीना चाहती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे