फेक न्यूज़ हटाएगा नहीं, नीचे सरकाएगा फेसबुक

  • 14 जुलाई 2018
फेसबुक इमेज कॉपीरइट Reuters

फेसबुक ने कहा है कि वो अपने प्लेटफॉर्म से फेक न्यूज़ नहीं हटाएगा, क्योंकि ऐसे पोस्ट उसके 'कम्युनिटी स्टैंडर्ड्स' का उल्लंघन नहीं करते.

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक फिलहाल ब्रिटेन में फेक न्यूज़ के ख़िलाफ़ अभियान चला रही है. इससे जुड़े विज्ञापन का नाम 'फेक न्यूज़ इज़ नॉट आवर फ्रेंड' दिया गया है.

लेकिन अब फेसबुक का कहना है कि ऐसी पोस्ट करने वालों का अक़सर 'बहुत अलग नज़रिया' होता है और उसे हटाना 'बोलने की आजादी के बुनियादी सिद्धांत के उलट होगा'.

फेसबुक ने कहा है कि वह फेक न्यूज़ को हटाएगा नहीं, बल्कि उसे न्यूज़ फीड में बहुत नीचे धकेल देगा.

इसका मतलब फेक न्यूज़ फेसबुक पर मौजूद तो रहेगी लेकिन आसानी से दिखेगी नहीं.

फेक न्यूज़ पर सवालों के घेरे में फेसबुक

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बीते अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में सोशल नेटवर्क के ज़रिए कथित रूसी हस्तक्षेप के सबूत मिले थे. जिसके बाद से फेक न्यूज़ के प्रसार में भूमिका को लेकर फेसबुक सवालों के घेरे में है.

बुधवार को न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम में कंपनी ने पत्रकारों को समझाने की कोशिश की कि वो फेक न्यूज़ से निपटने की कोशिशें कर रही है.

इस दौरान सीएनएन के एक रिपोर्टर ने सवाल किया कि फेसबुक पर अब भी 'इन्फोवॉर्स' नाम का पेज मौजूद है, ऐसे में कंपनी भ्रामक जानकारी से निपटने का दावा कैसे कर सकती है.

'इन्फोवॉर्स' पर लाइव टॉक शो दिखाए जाते हैं. फेसबुक पर इस पेज के नौ लाख से ज़्यादा फॉलोअर्स हैं. इसके प्रमुख होस्ट एलेक्स जोन्स के यूट्यूब पर 24 लाख सब्सक्राइबर हैं.

फेसबुक से क्यों नाता तोड़ रहे अमरीकी नौजवान

यहां व्हॉट्सएप-फेसबुक पर सरकार ने लगाया टैक्स

'ग़लत जानकारी'

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इन्फोवॉर्स के एलेक्स जोन्स

इन्फोवॉर्स पेज के ज़रिए अबतक बहुत-सी गलत जानकारी फैलाई जा चुकी है. इसकी जानकारी गलत होने के कई प्रमाण मिले हैं.

2012 में सैंडी हुक स्कूल में हुई गोलीबारी को लेकर भी इस प्लेटफॉर्म पर गलत जानकारी दी गई थी.

सीएनएन के रिपोर्टर को जवाब देते हुए फेसबुक के जॉन हेगमन ने कहा, "लोगों को आवाज़ देने के लिए हमने फेसबुक बनाया था."

कंपनी ने कहा कि जो फेक न्यूज़ उसके नियमों का उल्लंघन नहीं करती उसे हटाया नहीं जाएगा. लेकिन हां, उस फर्जी सामग्री को दूसरी सामग्रियों से काफी नीचे कर दिया जाएगा.

फेसबुक की एक प्रवक्ता ने सीएनएन से कहा, "अभिव्यक्ति के रूप में लोग इसे पोस्ट कर सकते हैं, लेकिन हम इन ख़बरों को न्यूज़ फीड में ऊपर नहीं दिखाएंगे."

कार्टून: फेसबुक का लीक बटन

अबकी बार, फेसबुक में एक ख़ास बदलाव

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए