सोशल: 'प्रिया वॉरियर को राहुल गांधी से मिली ज़बरदस्त टक्कर'

  • 20 जुलाई 2018
राहुल गांधी और प्रिया वारियर इमेज कॉपीरइट TV GRAB

संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सभी को हैरत में डाल दिया.

राहुल ने बीजेपी पर तीखे हमले करने बाद अपने भाषण के आखिर में पीएम नरेंद्र मोदी को गले लगा लिया. नरेंद्र मोदी भी उस वक्त हैरान रह गए.

फिर दोनों ने आपस में कुछ कहा और हाथ मिलाया. इसके बाद राहुल गांधी के अपनी सीट पर बैठकर आंख मारने का वीडियो भी सामने आया.

इस पूरी घटना के बाद सोशल मीडिया पर खूब हल्ला मचा. लोगों ने अपने-अपने अंदाज़ में इस चुटकियां लीं और फोटो शेयर की. जहां कई लोगों ने राहुल के इस अंदाज की जमकर तारीफ की वहीं इस पर खूब जोक्‍स और मीम्‍स भी बन रहे हैं.

ट्विटर पर इस वक्‍त #NoConfidenceMotion और राहुल गांधी ट्रेंड कर रहे हैं.

किसी ने राहुल गांधी की प्रिया प्रकाश वॉरियर के आंख मारने वाले वीडियो से तुलना की तो किसी ने इसे मोदी के 'हग' का जवाब बताया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

एक यूजर अशोक गारेकर ने ट्वीट किया, ''प्रिया प्रकाश वॉरियर को अपने नए गाने में राहुल गांधी की तरह पहले गले लगाना चाहिए फिर आंख मारनी चाहिए.''

एक और यूजर 'द आर्सेनल फैन' ने लिखा है, ''मैं राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी का समर्थन नहीं करता. लेकिन, बढ़ते ट्रोल्स और नफ़रत के बीच यह बिल्कुल सही जवाब है.''

यूजर 'यावर हयात' ने ​लिखा है, ''राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी को उनके हग का स्वाद चखा​ दिया.''

यूजर 'अथर ख़ान' का ट्वीट है, ''आप हमेशा गले लगाते हैं. इस बार मेरी बारी है...''

लोगों ने राहुल गांधी के गले लगाने को लालकृष्ण आडवाणी और धारा 377 से भी जोड़ दिया.

इमेज कॉपीरइट LSTV

एक यूजर 'मानवीर' ने लालकृष्ण आडवाणी की तस्वीर डालते हुए लिखा है, ''कोई मुझे भी गले लगा लो.''

वहीं, यूजर 'अमित कुमार बाघेल' ने ट्वीट किया है, ''सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया को धारा 377 को रद्द कर देना चाहिए.''

यूजर 'वेंकेट सूर्यप्रकाश' ने ट्वीट किया है, ''प्रिया वॉरियर को राहुल गांधी से जबरदस्त मुक़ाबला. उन्होंने आंख मारने के बाद गले लगाया. ये उनके शब्दों और कामों का खालीपन दिखाता है.''

प्रतीक ने नरेंद्र मोदी की तरह से लिखा है, ''और क्या राहुल भाई.. विदेशियों को गले लगाना मेरा काम है. मैं सुषमा को भी इसकी इजाजत नहीं देता.''

राहुल गांधी ने संसद में एक लंबा भाषण दिया. इसमें उन्होंने बीजेपी पर रफ़ाएल सौदा, डोकलाम प्रकरण, जुमलेबाज़ी, किसानों की अनदेखी और सांप्रदायिक सदभाव बिगाड़ने को लेकर आरोप लगाए.

उनके भाषण के बीच हंगामा मचने पर सदन को कुछ देर के लिए स्थगित भी करना पड़ा. सदन फिर से शुरू होने पर राहुल गांधी ने अपनी बात पूरी की.

ये भी पढ़ें:

LIVE : 'आपके लिए मैं पप्पू हूं, लेकिन मेरे मन में आपके लिए नफ़रत नहीं है'

राहुल की 'गांधीगिरी' में कौन सी रणनीति छिपी है?

राहुल ने ये भाषण देकर पीएम को दी 'झप्पी'

अविश्वास प्रस्ताव: मोदी सरकार और विपक्ष दोनों की परीक्षा

अविश्वास प्रस्ताव: कौन फ़ायदे में, किसका नुक़सान

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए