सोशल: देश छोड़ने वाले बयान पर ख़ुद विराट कोहली कितने फिट

  • 8 नवंबर 2018
विराट कोहली इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का एक बयान काफ़ी विवादित हो गया है.

बुधवार को कोहली ने कहा था कि "जिन्हें विदेशी बल्लेबाज़ पसंद हैं उन्हें भारत में नहीं रहना चाहिए".

अब इस बयान को लेकर लोग कोहली को सोशल मीडिया पर घेर रहे हैं.

लोग कोहली के ख़िलाफ़ तीखी टिप्पणियाँ कर रहे हैं. इनमें से कुछ लोगों ने विराट कोहली के पुराने वीडियो और ट्वीट शेयर किए हैं जिनमें उन्होंने कभी अपने पसंदीदा विदेशी खिलाड़ियों के बारे में बात की थी.

साल 1988 में जन्मे विराट कोहली ने 2008 में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए पहला वनडे मुक़ाबला खेला था. ये मैच खेलने से पहले उन्होंने ख़ुद बताया था कि उनके पसंदीदा बल्लेबाज़ हर्शल गिब्स हैं.

इस मैच का एक वीडियो शेयर करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला ने ट्वीट किया है कि "तो क्या विराट कोहली को साउथ अफ़्रीका भेज देना चाहिए था! लेकिन थोपा गया राष्ट्रवाद और ये पागलपन उस वक़्त चलन में नहीं थे."

बहुत सारे लोगों ने डेक्कन क्रॉनिकल न्यूज़ की उस ख़बर को ट्वीट किया है जिसमें ब्रिटेन के बल्लेबाज़ जो रूट को विराट कोहली ने अपना पसंदीदा बल्लेबाज़ बताया था.

साल 2016 में छपी इस ख़बर के अनुसार भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड से कहा था कि न्यूज़ीलैंड के केन विलियम्सन और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर के अलावा इंग्लैंड टीम के जो रूट उनके पसंदीदा खिलाड़ी हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जो रूट

कुछ लोगों ने डीएनए न्यूज़ की एक ख़बर ट्वीट की है जिसमें स्विट्ज़रलैंड की एक घड़ी कंपनी के प्रचार इवेंट में विराट ने अपने 'अल्टीमेट फ़ेवरेट' खिलाड़ी के बारे में बताया था.

साल 2018 में छपी इस ख़बर के अनुसार विराट के सबसे पसंदीदा खिलाड़ी टेनिस स्टार रॉजर फ़ेडरर हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

उनके बारे में विराट ने कहा था, "रॉजर फ़ेडरर मेरे अल्टीमेट पसंदीदा हैं. वो शानदार खिलाड़ी हैं. वो अपने परिवार को समय देते हैं. आलोचनाओं की चिंता नहीं करते. जीवन में उनकी प्राथमिकताएं तय हैं. मैं उनका बहुत सम्मान करता हूँ."

@SimplyAshokKr नाम के ट्विटर यूज़र ने विराट कोहली के एक पुराने ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा है, "ये कौन बन्दा है. इसको बताओ कि अगर विदेशी खिलाड़ी को पसंद करते हो तो भारत में क्यों रह रहे हो?"

इमेज कॉपीरइट Twitter/Virat Kohli

विराट ने इस ट्वीट में जर्मन खिलाड़ी ऐनजलीक़ केर्बर के लिए लिखा था, "ऑस्ट्रेलिया ओपन जीतने की शुभकामनाएं. आप आधिकारिक तौर पर मेरी पसंदीदा टेनिस खिलाड़ी हैं."

'भारत में नहीं रहना चाहिए'

दरअसल, बुधवार को विराट कोहली का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था जिसमें वो विदेशी बल्लेबाज़ों को पसंद करने वाले लोगों से भारत छोड़ने को कहते हैं.

बताया गया है कि ये वीडियो उनके जन्मदिन पर लॉन्च किए गए एक ऐप के लिए बनाया गया था. इस वीडियो में विराट ट्विटर और इंस्टाग्राम पर आए संदेशों को पढ़ते दिख रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter/Virat

इसी दौरान उन्होंने एक संदेश पढ़ा, जिसमें किसी ने उन्हें 'ओवररेटेड' खिलाड़ी कहा. यूज़र ने लिखा था, "आप ओवररेटेड खिलाड़ी हो. व्यक्तिगत तौर पर मुझे कुछ ख़ास नज़र नहीं आता. मुझे भारतीय बल्लेबाज़ों के मुक़ाबले ब्रितानी और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ ज़्यादा पसंद हैं."

इसके जवाब में विराट कोहली ने कहा, "मुझे लगता है आपको भारत में नहीं रहना चाहिए... कहीं और रहना चाहिए. आप हमारे देश में रहकर अन्य देशों को क्यों पसंद कर रहे हैं? आप मुझे पसंद नहीं करते, कोई बात नहीं लेकिन मुझे नहीं लगता कि आपको हमारे देश में रहकर कहीं और की चीज़ें पसंद करनी चाहिए. अपनी प्राथमिकताएं तय कीजिए."

इमेज कॉपीरइट Twitter/Virat

विदेशी ब्रैंड्स और विराट

कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर उनके इटली जाकर शादी करने और विदेशी ब्रैंड्स का प्रचार करने के फ़ैसले पर भी सवाल उठाया है.

ट्विटर यूज़र आकाश बनर्जी ने लिखा है कि "शायद नवंबर के महीने में विराट कोहली को कुछ हो जाता है. इसी महीने में उन्होंने नोटबंदी को भारतीय इतिहास का सबसे अच्छा फ़ैसला बताया था."

एक अन्य ट्वीट में आकाश ने @RunaRebel नाम के ट्विटर यूज़र को आंकड़े सामने लाने के लिए धन्यवाद दिया है और लिखा है, "कोई विदेश बल्लेबाज़ को पसंद करे तो देश छोड़े. लेकिन विराट कोहली विदेशी ब्रैंड्स को पसंद भी कर सकते हैं और उनका प्रचार भी करते हैं."

आलोचनाओं की झड़ी

अशरफ़ नाम के एक ट्विटर यूज़र ने लिखा है, "विराट कोहली कहते हैं कि जो विदेशी खिलाड़ियों को देखना पसंद करते हैं उन्हें भारत में नहीं रहना चाहिए. लेकिन उन्होंने ख़ुद इटली नाम के देश में शादी की और विदेशी ब्रैंड्स का प्रचार कर रहे हैं."

एक अन्य ट्विटर यूज़र सिद्धार्थ विशी ने ट्वीट किया, "विराट कोहली का ताज़ा बयान खेल भावना के विपरीत है. खेल में राष्ट्रीयता से परे प्रदर्शन की तारीफ़ की जाती है."

राजेश झा नाम ने ट्विटर यूज़र ने लिखा है, "सभी अपनी राय रखने के लिए स्वतंत्र हैं. विराट कोहली एक बड़े आदमी हैं. उनकी राय लोगों पर ख़ासकर नौजवानों पर असर डाल सकती है. इसलिए ऐसी नफ़रत भरी बातें उन्हें सोचकर करनी चाहिए. जब तक विराट माफ़ी नहीं मांगते, लोगों को उन ब्रैंड्स का बहिष्कार करना चाहिए जिनका विराट कोहली प्रचार करते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आपयहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार