'पाकिस्तान में मोदी और बीजेपी के लिए नारे' लगने का सच

  • 20 अप्रैल 2019
सोशल मीडिया इमेज कॉपीरइट SM Viral Post

सोशल मीडिया पर कुछ बुर्क़ानशीं महिलाओं का वीडियो वायरल हो गया है. बीते 48 घंटे में इस वीडियो को फ़ेसबुक पर सैकड़ों बार पोस्ट किया जा चुका है.

क़रीब दो मिनट के इस वीडियो में महिलाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में नारे लगातीं और गीत गाती हुई सुनाई देती हैं.

जिन लोगों ने यह वीडियो शेयर किया है, उनका दावा है कि ये वीडियो पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिम में स्थित बलूचिस्तान प्रांत का है.

'एबीवीपी तमिलनाडु' जैसे दक्षिणपंथी रुझान वाले फ़ेसबुक पन्नों पर यह वीडियो शेयर किया गया है. लोगों ने लिखा है, "नरेंद्र मोदी को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों में जुनून है. देखिए बलूचिस्तान में लोग कैसे उनके लिए नारे लगा रहे हैं."

इमेज कॉपीरइट FB Search List

दूसरी ओर कुछ सोशल मीडिया यूज़र्स ऐसे भी हैं जिन्होंने ये वीडियो इस सवाल के साथ शेयर किया है कि पाकिस्तान के लोग बीजेपी और मोदी को क्यों सपोर्ट कर रहे हैं?

हमने यह पाया कि हिन्दी और अंग्रेज़ी के अलावा कुछ दक्षिण भारतीय भाषाओं के फ़ेसबुक ग्रुप्स में भी ये वीडियो पोस्ट किया गया है और इसे शेयर किया जा रहा है.

लेकिन इस वायरल वीडियो को देखकर सोशल मीडिया पर लोग जो कयास लगा रहे हैं, वो ग़लत हैं.

यह वीडियो पाकिस्तान का नहीं, बल्कि भारत प्रशासित कश्मीर का है.

वीडियो की हक़ीक़त

रिवर्स इमेज सर्च से पता चलता है कि सोशल मीडिया पर इस वीडियो को पहली दफ़ा 30 मार्च 2019 को पोस्ट किया गया था.

बीजेपी जम्मू-कश्मीर के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी यह वीडियो 31 मार्च 2019 को ट्वीट किया गया था.

इस ट्वीट में लिखा है, "अनंतनाग में मोदी-मोदी! नारों के बीच बीजेपी के अनंतनाग संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार सोफ़ी यूसुफ़ ने पर्चा भरा. इस दौरान उनके साथ हज़ारों समर्थक मौजूद थे जिनमें महिलाएं भी शामिल थीं और वो लोक-गीत गा रही थीं."

इमेज कॉपीरइट Twitter

बीजेपी नेता सोफ़ी यूसुफ़ ने भी पर्चा दाख़िल करने के बाद अपने फ़ेसबुक पेज पर और ट्विटर पर यह वीडियो शेयर किया था.

30 मार्च 2019 को पर्चा दाख़िल करने के बाद यूसुफ़ ने ट्विटर पर लिखा था, "मैं महबूबा मुफ़्ती को चुनौती देता हूँ. इस चुनाव में वो देखेंगी कि एक ज़मीनी स्तर का कार्यकर्ता कितनी क्षमता रखता है."

इमेज कॉपीरइट Twitter

वोटों की अपील, कश्मीरी गीत

श्रीनगर में मौजूद बीबीसी के सहयोगी पत्रकार माजिद जहाँगीर ने बताया कि ये वीडियो अनंतनाग शहर में स्थित खन्नाबल हाउसिंग कॉलोनी का है.

उन्होंने बताया कि वीडियो में दिख रहीं बुर्क़ानशीं महिलाएं तालियाँ बजाकर बीजेपी के उम्मीदवार सोफ़ी यूसुफ़ के लिए वोटों की अपील कर रही हैं और वो जो गीत गा रही हैं, वो एक कश्मीरी लोक-गीत है.

वायरल वीडियो में पीएम मोदी के अलावा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रविंदर रैना के लिए भी नारे सुनाई देते हैं.

यू-ट्यूब पर भी इस आयोजन से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स मौजूद हैं जिनसे यह पुष्टि होती है कि सोफ़ी यूसुफ़ के पर्चा दाख़िल करने से पहले ये नारेबाज़ी हुई थी.

इमेज कॉपीरइट Sofi Yousuf

सोफ़ी यूसुफ़ राजनीति में आने से पहले कश्मीर पुलिस में कार्यरत थे. मौजूदा समय में वो जम्मू-कश्मीर बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष हैं.

सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती के सामने लोकसभा चुनाव लड़ने से पहले सोफ़ी यूसुफ़ कश्मीर की विधान परिषद के सदस्य रहे हैं.

चुनाव आयोग के अनुसार अनंतनाग संसदीय क्षेत्र में तीन चरणों में मतदान होना है. चुनाव आयोग के कार्यक्रम के मुताबिक़ अनंतनाग संसदीय क्षेत्र में पड़ने वाले अनंतनाग ज़िले में 23 अप्रैल, कुलगाम में 29 अप्रैल और शोपियां-पुलवामा में 6 मई को वोटिंग होगी.

(इस लिंक पर क्लिक करके भी आप हमसे जुड़ सकते हैं)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार