गौतम गंभीर-आतिशी मार्लेना पर्चा विवाद: AAP के अरविंद केजरीवाल को क्यों मिली चुनौती?

  • 9 मई 2019
गौतम गंभीर इमेज कॉपीरइट AAP, GETTY

दिल्ली की पूर्वी दिल्ली सीट से आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार आतिशी मार्लेना लगातार चर्चाओं में बनी हुई हैं.

पहले मनीष सिसोदिया के आतिशी की जाति बताने पर हुआ विवाद और अब एक ऐसा आपत्तिजनक पर्चा जिसके बारे में बात करते हए आतिशी की आंखें छलक गईं.

आतिशी और मनीष सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूर्वी दिल्ली सीट से अपने विरोधी बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर पर गंभीर आरोप लगाए हैं. इन आरोपों को गौतम गंभीर ने खारिज किया है.

सिसोदिया ने आरोप लगाया, ''बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर ने मुझे लेकर ऐसे कई पर्चे बंटवाए हैं. इस पर्चे की भाषा बेहद अभद्र है. गालियों का इस्तेमाल हुआ है. पर्चे की भाषा पढ़कर सभी शर्मिंदा हो जाएंगे.''

आतिशी ने आरोप लगाया, ''मेरा गंभीर जी से बस एक यही सवाल है के अगर वो मेरे जैसी एक सशक्त महिला को हराने के लिए इतना गिर सकते हैं तो सांसद बनने के बाद वो अपने क्षेत्र की महिलाओं को कैसे सुरक्षित करेंगे.''

इमेज कॉपीरइट AAP

इस पर्चे में है क्या?

'आप' की ओर से जो पर्चे बांटने का आरोप गौतम गंभीर पर लगाया जा रहा है, उसकी भाषा बेहद आपत्तिजनक है.

पर्चे में गालियों और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है. पर्चे में आतिशी के बारे में अभद्र बातें कही गईं हैं. ये पर्चा सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है.

आपत्तिजनक भाषा की वजह से इस पर्चे और उसमें लिखे कंटेंट को हम इस स्टोरी में शामिल नहीं कर रहे हैं.

'आप' के आरोपों पर गौतम गंभीर की प्रतिक्रिया आई है. गौतम ने ट्विटर पर लिखा, ''अरविंद केजरीवाल जी, चुनाव जीतने के लिए एक औरत की अस्मिता और वो भी अपनी महिला सहयोगी के साथ आप जो ये खेल कर रहे हैं, इसकी मैं निंदा करता हूं. मुख्यमंत्री जी आप गंदे हैं. आप ही की झाड़ू लेकर आपकी गंदी सोच को साफ़ करने की ज़रूरत है.''

गौतम गंभीर ने लिखा, ''मैं केजरीवाल को चुनौती देता हूं कि आप जो आरोप लगा रही हैं, उसे साबित करके दिखाए. अगर ऐसा हुआ तो मैं अपनी उम्मीदवारी छोड़ दूंगा. केजरीवाल मेरे सीएम हैं, ये मेरे लिए शर्मिंदगी की बात है.''

अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, ''मुझे कभी उम्मीद नहीं थी कि गौतम इस स्तर पर गिरेंगे. ऐसे लोग अगर चुनकर आएंगे तो महिलाएं कैसे सुरक्षित रहेंगी. आतिशी मज़बूत बनी रहो. मैं समझ सकता हूं कि ये तुम्हारे लिए कितना मुश्किल है.''

दिल्ली में अबकी बार, किसके साथ पूर्वांचली

इमेज कॉपीरइट AFP

विवाद की सोशल मीडिया पर चर्चा

ये पूरा विवाद सोशल मीडिया पर छाया हुआ है. ट्विटर पर #IStandWithAtishi टॉप ट्रेंड है. हालांकि इस ट्रेंड के साथ ट्वीट करने वाले लोगों में आप समर्थक ज़्यादा हैं.

आम आदमी पार्टी से निकाले गए कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया, ''ऐसा लगता है केजरीवाल ने खुद आतिशी के बारे में गंदी भाषा का पर्चा लिखा है. आतिशी को मेरी सलाह हैं कि ये आँसू बचा कर रखें. हारने के बाद उन्हें पता चलेगा कि केजरीवाल ने पर्दे के पीछे क्या-क्या किया?''

फ़वाज़ जलील ने लिखा, ''जिस दिन गौतम गंभीर राहुल द्रविड़ से लड़े थे, मेरा यकीन तो उसी दिन उठ गया था. अब आतिशी के साथ जो किया है वो तो भयावह है.''

शाज़िया इल्मी ने ट्वीट किया, ''नाम बदल दिया. जाति का कार्ड भी खेला. अमानतुल्लाह के साथ मिल कर मज़हब का इस्तेमाल किया. अब अपने बारे में गंदी बातें लिखवाकर एक शरीफ़ और लोकप्रिय इंसान को बदनाम कर रही हो! कितना और गिरोगी आतिशी? मान गए उस्ताद!''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार