सोशल: अमेठी, ईवीएम और गठबंधन पर चर्चा

  • 23 मई 2019
लोकसभा चुनाव 2019 इमेज कॉपीरइट Getty Images

जिस तरह लोकसभा चुनावों के नतीजे आने से पहले सभी दलों के दफ़्तर में तैयारियां शुरू हो गई थीं, उसी तरह सोशल मीडिया पर भी लोग अपनी राय के साथ हाज़िर हैं.

रुझान आते ही सोशल मीडिया पर लोगों के ट्वीट और कमेंट की बरसात हो गई है. ट्वीटर पर #ElectionResults2019, #Verdict2019, #ModiAaRahaHai, #Amethi और #Smriti Irani जैसे ट्रेंड चल रहे हैं.

चुनाव आयोग के मुताबिक इन रुझानों में बीजेपी 291 से ज़्यादा सीटों पर आगे चलते हुए बहुमत की तरफ़ बढ़ रही है, कांग्रेस करीब 50 सीटों पर आगे दिख रही है, वहीं अन्य दल 196 सीटों पर आगे है. हालांकि, ये शुरुआती रुझान हैं और नतीजों में बदलाव हो सकता है.

लेकिन, लोगों ने सोशल मीडिया पर चुटकियां लेनी शुरू कर दी है. कोई बीजेपी की बढ़त पर, कोई कांग्रेस और आप पर कमेंट कर रहा है तो कोई ईवीएम की बात कर रहा है.

एक ट्वीटर यूजर चौकीदार मित प्रजापति ने ट्वीट किया है, ''आप उम्मीदवार इस तरह हैं.''

सर जडेजा फैन का ट्वीट है, ''हारने वालों के लिए ये ढूंढना मुश्किल हो गया है कि हारने का इल्ज़ाम किस पर लगाया जाए. ईवीएम, चुनाव आयोग या मतदाता''.

यूजर ऋषभ महाजन का ट्वीट है, ''प्रिय विपक्ष, मोदी के लिए नफ़रत नहीं बल्कि आपका काम आपको वोट दिलाएगा''.

दीपक जोशी ने लिखा है, ''अभी कांग्रेस इस हाल में''

अमेठी की सीट को लेकर भी खासी चर्चा है. यहां से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बीजेपी नेता स्मृति ईरानी के बीच कड़ी टक्कर है.

सुनील पांडे ने ट्वीट किया है, ''अमेठी विश्व स्तरीय सीट बन गई है. देखें कौन जीतता है इटेलियन या ईरानी''.

यूजर एबी ने लिखा है, ''मुझे इससे फ़र्क नहीं पड़ता कि एनडीए कितनी सीटें जीतती या यूपीए कितनी हारती है. मुझे तो बस ये जानना है कि राहुल गांधी अमेठी से हारने वाले हैं या नहीं.''

शशांक पवार का ट्वीट है, ''अगर रागा (राहुल गांधी) वायनाड से जीतते हैं और अमेठी से हारते हैं तो वो कौन सी ईवीएम पर सवाल उठाएंगे?''

हालांकि, सोशल मीडिया पर कुछ लोग ईवीएम को लेकर भी सवाल उठा रहे हैं. बीबीसी की कहासुनी में लोगों ने शुरुआती रुझानों पर अपनी राय बताई.

यूजर नवल किशोर ने कमेंट किया, ''चुनाव आयोग के समर्थन के बिना ये संभव नहीं.''

यूजर फैश अहमद का कमेंट है, ''वो तो होना ही था ईसी जो हैक हो चुका है.''

एक यूजर विक्रम गांधी ने किसी पार्टी का पक्ष न लेते हुए लिखा है, ''सभी राजनीतिक दलों का दायित्व है कि जीत में विनम्र रहें और हार में आत्मचिंतन करें. लोकतंत्र में विनम्रता एवं लोकलाज ही हमारा आभूषण है. मर्यादा बनाए रखें.''

इसी तरह अकील अहमद अंसारी ने लिखा है, ''जो भी होगा सामने होगा स्वीकार होगा...''

लगातार चुनावी नतीजों में बदलाव हो रहा है और कई महत्वपूर्ण सीटों पर टक्कर बनी हुई है. फिलहाल शुरुआती रुझान ही सामने आए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार