इमरान ख़ान के बेटे और आर्मी प्रमुख बाजवा लॉर्ड्स में आए साथ

  • 24 जून 2019
पाकिस्तानी सेना के चीफ़ संग दिखे इमेज कॉपीरइट Twitter/PakCyberArmy1

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान पर पाकिस्तानी सेना के क़रीबी होने के आरोप अक्सर लगते रहे हैं.

रविवार को ब्रिटेन में पाकिस्तान और दक्षिण अफ़्रीका के बीच मैच के दौरान इमरान ख़ान के बेटे सुलेमान ख़ान और पाकिस्तानी आर्मी के चीफ़ बाजवा के बीच ये नज़दीकी साफ़ दिखाई दी. पाकिस्तान ट्रिब्यून अख़बार का कहना है कि मैदान में दोनों साथ में दिखे.

इमरान ख़ान के बेटे सुलेमान ख़ान और पाकिस्तानी आर्मी प्रमुख जनरल बाजवा टीम का हौसला बढ़ाने के लिए लॉर्ड्स स्टेडियम पहुंचे थे. इमरान ख़ान की पहली पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ से दो बेटे हैं. जेमिमा तलाक़ के बाद से ब्रिटेन में रह रही हैं और दोनों बेटे मां के साथ ही रहते हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter/PakCyberArmy1

इस दौरान आईएसपीआर के मेजर जनरल आसिफ़ ग़फ़ूर और पीसीबी अध्यक्ष एहसान मनी भी स्टेडियम में देखे गए.

इस मैच में बाजवा बिना किसी प्रोटोकॉल के आम दर्शकों की तरह मैदान में गए और उन्होंने मैच का आनंद लिया.

हालांकि, मेजर जनरल आसिफ़ गफूर ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके बताया है कि आर्मी चीफ़ बाजवा एक आधिकारिक यात्रा पर ब्रिटेन गए हैं.

दूसरी ओर पाकिस्तान की संसद में भी सेना और इमरान ख़ान के बीच नज़दीकियों का मुद्दा छाया रहा.

इसी बीच संसद में इमरान ख़ान को सिलेक्टेड पीएम कहे जाने पर पाबंदी लगा दी गई है.

इमरान ख़ान के चुनाव जीतने के बाद से ये कयास लगाए जाते रहे हैं कि पाकिस्तानी पीएम सेना के साथ नज़दीकियों की वजह से चुनाव जीते हैं.

हालांकि, सत्तारूढ़ दल की ओर से अब तक ऐसे दावों को आधारहीन बताया जाता रहा है.

लेकिन सिलेक्टेड पीएम शब्द पर पाबंदी लगाए जाने के बाद से सोशल मीडिया पर ये शब्द ट्रेंड कर रहा है.

इसमें एक ओर इमरान ख़ान के समर्थक उनके पक्ष में ट्वीट कर रहे हैं.

वहीं, विपक्षी दलों के दावों का समर्थन करने वाले ट्विटर यूज़र इसका विरोध कर रहे हैं.

पाकिस्तान की पूर्व सांसद बुशरा गोहर ने ट्वीट किया है, "चलो जी, कठपुतली डिप्टी स्पीकर ने सांसदों को पाकिस्तान के पपेट पीएम को सिलेक्टेड पीएम कहने से प्रतिबंधित कर दिया है. हालांकि, उन्हें झूठे आरोपों पर सांसदों की गिरफ़्तारी को लेकर कोई दिक्क़त नहीं है. पपेट डिप्टी स्पीकर का ये भद्दा आदेश ख़ारिज किया."

एबी वहीद चन्ना नाम के ट्विटर यूज़र लिख रहे हैं, "अगर चुने हुए हैं तो सिर्फ़ एक शब्द सिलेक्टेड से डर क्यों"

राशिद एच. राजपूत ट्विटर पर लिखते हैं, "पाकिस्तान कभी भी आदर्श स्थिति में नहीं था लेकिन सिलेक्टेड पीएम ने अपनी नाक़ाबिलियत से स्थिति और ख़राब कर दी है. लेकिन वह असली दोषी नही हैं क्योंकि असली दोषी वो लोग हैं जिन्होंने उन्हें प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुंचाया था."

वहीं, इमरान ख़ान के समर्थक सीरत लिख रहे हैं, "हां, वह सिलेक्टेड पीएम थे. मैंने उन्हें अपने वोट से सिलेक्ट किया है."

ज़ारा नाम की ट्विटर यूज़र लिखती हैं, "हां, सिलेक्टेड पीएम इमरान ख़ान को पाकिस्तान की जनता ने चुना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए