वसीम अकरम की पत्नी ने पाक के मैच को ऐसा क्यों बताया

  • 30 जून 2019
शानीरा अकरम इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पाकिस्तान के चर्चिच क्रिकेटर वसीम अकरम की पत्नी शानीरा अकरम

लीड्स में अफ़ग़निस्तान और पाकिस्तान के बीच हुआ मुक़ाबला अंतिम ओवर के रोमांच तक पहुंचा और आख़िरकार हारते-हारते पाकिस्तान तीन विकेट से जीत गया.

पाकिस्तान के लिए ये मुक़ाबला करो या मरो का था. हारते ही पाकिस्तान सेमीफ़ाइनल की दौड़ से बाहर हो जाता. अफ़ग़ानिस्तान पहले ही बाहर हो चुका है.

पाकिस्तान में लोग दम साधे इस मैच को देखते रहे. पूर्व कप्तान वसीम अकरम की पत्नी शानीरा अकरम ने तो इसे स्वास्थ्य के लिए हानीकारक तक बता दिया.

मैच के बाद किए गए एक ट्वीट में उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि ये समझदारी की बात होगी अगर पाकिस्तान के हर मुक़ाबले से पहले दर्शकों को ये चेतावनी दी जाए कि इसे देखने से आपकी सेहत पर असर पड़ सकता है क्योंकि पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान का मुक़ाबला दिल की धड़कनें रोक देने वाला था."

सोशल मीडिया पर गालियां हो रहीं ट्रेंड

इस मैच के बाद मैदान के अंदर और बाहर अफ़गानिस्तान और पाकिस्तानी दर्शकों के बीच झड़पें होने की ख़बरें आईं. देखते ही देखते इस मैच के बाद की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं.

पाकिस्तानी दर्शकों ने अफ़गानिस्तान क्रिकेट फैंस की आलोचना करते हुए अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं.

ट्विटर यूज़र @RameezRaza97 कहते हैं, "एक अफ़गान फैन इमाद और वहाब पर हमला करने की कोशिश करते हुए..."

ट्विटर यूज़र @QueenAfshan कहती हैं, "क्या कभी आपने भारत और पाकिस्तानी समर्थकों को किसी भी मैच में आपस में झगड़ते देखा है. बिल्कुल नहीं, क्योंकि हम खेल पसंद करते हैं और हम जानते हैं कि खेल और पड़ोसियों का सम्मान कैसे करते हैं. ये अफ़गानिस्तान के फैन बहुत ख़राब हैं."

अपनी धमाकेदार तेज गेंदबाजी के लिए चर्चित रहे पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब अख़्तर के ट्वीट पर भी सोशल मीडिया यूज़र्स सवाल उठा रहे हैं.

अख़्तर ने अपने ट्वीट में लिखा है, "दिल अभी भी ऐसे धड़क रहा है, जैसे 100 मील प्रतिघंटे की रफ़्तार से गेंद फेंककर आया हूं. आख़िर में मुश्किल से ये जीत हासिल हुई है. इमाद ने ज़िम्मेदारी ली और आख़िर में मैच जीत लिया. शाहीन बेहतरीन खेल खेलते हुए एक क़दम और आगे बढ़ा है.

हमें पाकिस्तानी क्रिकेट की तरह अफ़गानिस्तान के क्रिकेट को भी सपोर्ट करते रहना चाहिए."

इसके जवाब में फ़ज़ल रबी ख़ान लिखते हैं, "आपने ये मैच हारने के बाद उनकी प्रतिक्रिया नहीं देखी और मैच शुरू होने से पहले भी. इसके बाद भी आप उनका समर्थन करना चाहते हैं."

वहीं, एक ट्विटर यूज़र @Real1me_ लिखते हैं, "@Twitter आपको ये ट्रेंड हटाना चाहिए क्योंकि ये आपकी कम्युनिटी गाइडलाइंस का उल्लंघन करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार