पाकिस्तान: बालाकोट पर आसिफ़ गफ़ूर ने क्यों मांगी माफ़ी #SOCIAL

  • 29 जुलाई 2019
आसिफ़ गफूर इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता डायरेक्टर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने अपने उस ट्वीट के लिए माफ़ी मांग ली है जिसमें उन्होंने एक पुराने वीडियो को बालाकोट एयर स्ट्राइक से जोड़कर दिखाया था.

बीती 28 जुलाई को आसिफ़ गफ़ूर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो ट्वीट किया था.

इस वीडियो में भारतीय वायुसेना के एयर मार्शल डेंजिल कीलर बात करते हुए दिख रहे हैं.

गफ़ूर ने इस वीडियो के साथ ये दावा किया था कि भारतीय वायुसेना के एक बड़े अधिकारी ने 27 फरवरी 2019 को मिली असफलता और नुकसान को स्वीकार किया है.

लेकिन इसके बाद आसिफ़ गफ़ूर को सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा.

कई सोशल मीडिया यूज़र्स ने इस वीडियो की सत्यता पर सवाल उठाए. वहीं, कुछ रक्षा क्षेत्र पर नज़र रखने वाले पत्रकारों ने ट्वीट में दिखाए गए वीडियो को पुराना बताया.

डिफ़ेंस मामलों के जानकार पत्रकार अजय बनर्जी लिखते हैं, "मेजर जनरल गफ़ूर, थोड़ा गंभीर हो जाइए, ये झूठ है. ये बालाकोट के बाद का वीडियो नहीं है. और शायद आप भूले नहीं होंगे कि डेंजिल कीलर के भाई ट्रेवर ने 1965 में चांब जुआरियन में पाकिस्तानी एयरफ़ोर्स का पहला नुकसान किया था."

वहीं, ट्विटर यूज़र एच यू ख़ान कहते हैं, "आसिफ़, ये तीन साल पुराना वीडियो है, आप ये ग़लती कैसे कर सकते हैं, ये अस्वीकार्य है. आपने अपने भरोसे को खो दिया है. एक पीआर पेशेवर होने के नाते मुझे धक्का लगा है."

एक अन्य ट्विटर यूज़र हर प्रसाद शर्मा लिखते हैं, "फेक और डॉक्टर्ड वीडियो है, कुछ तो शर्म करो..."

सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का सामना करने के बाद आसिफ़ गफूर ने कहा है, "हमें ये जानकारी मिली है कि एयर मार्शल की क्लिप में छेड़छाड़ की गई है. वीडियो में उनके द्वारा स्वीकार की गई बात और प्रतिक्रिया काफ़ी मिलती जुलती थी. ये इरादतन नहीं किया गया है."

इसके बाद शाहजहां मलिक ने ट्वीट किया है, "एक सम्मानित व्यक्ति कुछ इस तरह अपनी ग़लती को स्वीकार करता है. स्पष्टीकरण के लिए शुक्रिया"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए