दिल्ली की सर्दी: 1901 के बाद दूसरा सबसे सर्द दिसंबर

  • 27 दिसंबर 2019
रिकॉर्ड सर्दी इमेज कॉपीरइट Getty Images

दिल्ली-एनसीआर में कड़ाके की ठंड के बीच दिसंबर में बीते 100 सालों की सर्दी का रिकॉर्ड टूटने की संभावना है.

दिल्ली में न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है.

1901 के बाद दूसरा सबसे सर्द दिसंबर

समाचार एजेंसी पीटीआई ने मौसम विभाग के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि दिसंबर में इससे पहले केवल 1919, 1929, 1961 और 1997 में औसत तापमान 20 डिग्री से कम रहा है.

उन्होंने कहा, "इस साल गुरुवार तक दिसंबर में औसत तापमान 19.85 डिग्री रहा है. 31 दिसंबर तक इसके 19.15 डिग्री सेल्सियस होने की संभावना है."

अधिकारी ने कहा कि इस साल दिसंबर का महीना 1901 के बाद दूसरा सबसे सर्द दिसंबर का महीना हो सकता है.

उन्होंने बताया कि 1997 में औसत अधिकतम तापमान 17.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था, वहीं 1919 और 1929 में दिसंबर का औसत तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस रहा तो 1962 में यह 20 डिग्री था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

18 दिसंबर अब तक सबसे ठंडा

दिल्ली में तापमान के आधिकारिक आंकड़े देने वाली सफ़दरजंग मौसम विज्ञान केंद्र ने 18 दिसंबर को अब तक इस महीने का सबसे कम तापमान रिकॉर्ड किया है.

उसके मुताबिक 18 दिसंबर को 12.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया.

पालम मौसम केंद्र ने 25 दिसंबर को 11.4 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया.

14 दिसंबर से दिल्ली के अधिकांश इलाकों में लगातार 13 'कोल्ड डे' या 13 'कोल्ड स्पेल' रहा.

1992 के बाद दिल्ली में ऐसी सर्दी केवल चार वर्षों 1997, 1998, 2003 और 2014 में पड़ी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सीवियर कोल्ड

मौसम विभाग के मुताबिक 29 दिसंबर तक दिल्ली में सीवियर कोल्ड रहने का अनुमान है.

हालांकि इसके बाद के हफ़्ते में हवा की दिशा में परिवर्तन की वजह से कुछ राहत मिलने की संभावना है.

मौसम विभाग के मुताबिक अगर अधिकतम तापमान 10 डिग्री से कम और सामान्य से 4.5 से 6.5 डिग्री कम हो तो यह कोल्ड डे कहलाता है.

वहीं अगर अधिकतम तापमान सामान्य से 6.5 डिग्री से अधिक कम हो तो इसे सीवियर कोल्ड कहते हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
पोलर वोर्टेक्सः ऐसी ठंड देखी है कभी?

पूरे देश में क्या है ठंड का हाल?

इसके साथ ही मौसम विभाग ने बताया कि 29 दिसंबर तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, और उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में ठंडे दिनों का दौर बने रहने का अनुमान है.

राजस्थान के कई ज़िलों में तापमान शून्य से नीचे चला गया है. सीकर में गुरुवार को तापमान शून्य से 3 डिग्री नीचे पहुंच गया. वहीं मध्य प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में भी ठंडे दिनों का दौर रह सकता है.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मध्‍य प्रदेश और बिहार के कुछ इलाकों में इस दौरान पाला गिरने की संभावना भी है.

यही नहीं उत्‍तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, छत्‍तीसगढ़, दिल्‍ली और उत्‍तर राजस्‍थान के कुछ इलाकों में घना कोहरा नज़र आ सकता है.

भारतीय मौसम विभाग ने ऑल इंडिया वेदर बुलेटिन में कहा कि 30 दिसंबर से पश्चिम दबाव एकबार फिर सक्रिय होगा जिसकी वजह से उत्‍तर-पश्चिम और मध्‍य भारत के कुछ इलाकों में 31 दिसंबर से पहली जनवरी के बीच ओले पड़ने की आशंका है.

मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी एजेंसी स्‍काइमेट वेदर ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि भुवनेश्वर, पूरी, कोलकाता सहित ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल में कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है.

वहीं अमृतसर, लुधियाना और अलवर सहित पंजाब, हरियाणा और उत्तर राजस्थान के कुछ और इलाके भी शीतलहर की चपेट में आएंगे.

जम्मू में दिन का तापमान 10.8 डिग्री तो श्रीनगर में 8.4 डिग्री रहा. वहीं लेह में तापमान शून्य से 18 डिग्री नीचे रिकॉर्ड किया गया.

उत्तराखंड के भी आठ शहरों में न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा. चमोली के जोशीमठ, कुमाऊं के मुक्तेश्वर में भी तापमान पारा शून्य से नीचे चला गया. हिमाचल के भी कई जगहों पर तापमान शून्य से कम रहा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार