पाक को भारत से ख़तरा नहीं : ज़रदारी

  • 29 जून 2009
मनमोहन सिंह और आसिफ़ अली ज़रदारी
Image caption पाकिस्तान के राष्ट्रपति ज़रदारी ने कहा कि वो भारत को एक पड़ोसी मानते हैं

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी ने कहा है कि भारत से पाकिस्तान को कोई ख़तरा नहीं है. अमरीका में पीबीएस न्यूज़ चैनल के न्यूज़आवर कार्यक्रम में दिए एक साक्षात्कार में ज़रदारी ने कहा, "मैंने भारत को कभी एक ख़तरा नहीं समझा. मैंने हमेशा भारत को एक पड़ोसी ही माना है, जिसके साथ हम अपने रिश्ते सुधारना चाहते हैं." ज़रदारी ने ये जवाब उस सवाल पर दिया जब उनसे पूछा गया कि उनके मुताबिक़ पाकिस्तान को सबसे बड़ा ख़तरा भारत से है या आतंकवादियों से. ज़रदारी ने ये तो माना कि भारत के साथ रिश्तों में नर्मी-गर्मी आती रही है और दोनों देशों के बीच तीन बार युद्ध भी हुआ है मगर साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि लोकतांत्रिक देश आपसी संबंध सुधारने की दिशा में तो लगे ही रहते हैं. पिछले दिनों अमरीका के कूटनीतिक हलकों के हवाले से मीडिया में बार-बार ये ख़बर आ रही थी कि अमरीका पाकिस्तान को यही बात समझाने की कोशिश कर रहा है. इसके अलावा सत्ता में 100 दिन पूरे करने के मौक़े पर अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी कहा था कि भारत को घातक ख़तरा समझना पाकिस्तान की एक भूल है.

'परमाणु हथियार सुरक्षित'

उन्होंने भी कहा था कि पाकिस्तान को बड़ा ख़तरा अपने ही देश के आतंकवादियों से है.

भारतीय सीमा से सेना हटाने के बारे में पूछे जाने पर ज़रदारी ने कहा कि वह पहले ही ऐसा कर चुके हैं. पाकिस्तान के परमाणु हथियारों के बारे में ज़रदारी का कहना था, "तालेबान के विरुद्ध संघर्ष में परमाणु हथियारों का कोई महत्त्व नहीं है. सबसे पहली बात तो ये कि वे वहाँ तक पहुँच ही नहीं सकते. इसके अलावा हर संबद्ध पक्ष पाकिस्तान के परमाणु हथियारों की सुरक्षा को लेकर संतुष्ट है." ज़रदारी ने ये भी विश्वास दिलाया कि देश का सर्वोच्च कमांडर होने के नाते परमाणु हथियार उन्हीं के नियंत्रण में हैं.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है