मुद्राकोष ने दिया श्रीलंका को कर्ज़

वैश्विक आर्थिक मंदी के दौर में युद्ध की मार झेल रहे श्रीलंका को अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने 2.6 अरब डॉलर यानी कोई 130 अरब रुपए का कर्ज़ देना मंज़ूर कर लिया है.

Image caption श्रीलंका में संघर्ष के दौरान लाखों लोग विस्थापित हुए हैं

इसमें से 32.2 करोड़ डॉलर का 20 महीनों का कर्ज़ तत्काल उपलब्ध करवा दिया जाएगा जबकि शेष राशि तिमाही समीक्षा के बाद जारी की जाएगी.

अमरीका और ब्रिटेन ने कर्ज़ की मंज़ूरी के लिए हुए मतविभाजन में हिस्सा नहीं लिया. उन्होंने पिछले दिनों तमिल विद्रोहियों के ख़िलाफ़ हुए संघर्ष के दौरान उत्पन्न मानवीय परिस्थितियों पर चिंता ज़ाहिर की.

श्रीलंका सरकार का कहना है कि इस राशि का उपयोग क्षतिपूर्ति के लिए किया जाएगा.

श्रीलंका के मंत्री अरुणा प्रियदर्शन यापा का कहना है कि इस का उपयोग देश के उत्तर और पूर्वी हिस्से में पुनर्निर्माण के लिए किया जाएगा. ये वही इलाक़े हैं जो पहले तमिल विद्रोहियों के कब्ज़े में थे.

उनका कहना था, "हमने दुनिया के सबसे ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों में से एक को पूरी तरह से ख़त्म कर दिया है और अब समय मेलमिलाप और मरहम लगाने का है."

मुद्राकोष का कर्ज़ तमिल विद्रोहियों के संगठन एलटीटीई को ख़त्म करने की घोषणा के दो महीने बाद आया है. इसके साथ ही देश में 37 वर्ष पुराना गृहयुद्ध ख़त्म हो गया है.

इस दौरान एक लाख लोगों की जानें गई हैं और कोई तीन लाख लोगों को देश के उत्तरी हिस्से में विस्थापित होना पड़ा है.

ब्रिटिश वित्तमंत्री स्टीफ़न टिम्स का कहना है कि यह इस कार्यक्रम के लिए सही समय नहीं है.

अब जबकि कर्ज़ मंज़ूर हो गया है, टिम्स ने कहा है कि ब्रिटेन अब श्रीलंका में विकास कार्यों पर नज़र रखेगा.

ब्रिटेन ने उम्मीद जताई है कि श्रीलंका अपने सैन्य खर्चों में कटौती करेगा और मानवीय सहायता की ओर अधिक ध्यान देगा.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है