करज़ई खेमे ने किया जीत का दावा

  • 21 अगस्त 2009
हामिद करज़ई
Image caption हामिद करज़ई को जीतने के लिए 51 प्रतिशत मतों की ज़रुरत होगी

अफ़ग़ानिस्तान में हामिद करज़ई के प्रचार अभियान के प्रमुख ने कहा है उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव में पर्याप्त बहुमत हासिल कर लिया है और देश में फिर से मतदान की ज़रुरत नहीं होगी.

दीन मोहम्मद ने कहा है, "आरंभिक नतीजों से पता चलता है कि राष्ट्रपति ने बहुमत जीत लिया है और अब दूसरे चरण के चुनाव की ज़रुरत नहीं होगी."

लेकिन दूसरी ओर हामिद करज़ई के प्रमुख प्रतिद्वंद्वी अब्दुल्ला अब्दुल्ला के प्रवक्ता ने भी जीत का दावा किया है.

गुरुवार को अफ़ग़ानिस्तान में राष्ट्रपति के चुनाव के लिए मत डाले गए थे और चुनाव बहिष्कार की तालेबान की धमकी के बावजूद लाखों लोगों ने वोट डाले थे.

हालांकि अधिकृत नतीजे आने में दो हफ़्तों का समय लगेगा लेकिन अफ़ग़ान चुनाव आयोग ने इस बात की पुष्टि की है कि देश के विभिन्न हिस्सों में मतगणना का कार्य पूरा हो गया है.

चुनाव आयोग के एक अधिकारी ज़करिया बरकज़ई ने समाचार एजेंसी एएफ़पी से कहा कि वे उम्मीद कर रहे हैं कि परिणाम अगले हफ़्ते तक आ जाएँगे.

उनका कहना था, "देश के दक्षिणी हिस्से में मतदान का प्रतिशत उत्तरी और मध्य भाग की तुलना में अलग था लेकिन हम इससे संतुष्ट हैं. अनुमान है कि मतदान का औसत पचास प्रतिशत तक पहुँच जाएगा."

दीन मोहम्मद ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा कि करज़ई की जीत का दावा वे 29 हज़ार चुनाव पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट के आधार पर कर रहे हैं जो उनकी प्रचार अभियान टीम के सदस्य हैं और देश भर के मतदान केंद्रों पर पर तैनात हैं.

लकिन अब्दुल्ला अब्दुल्ला के प्रवक्ता फ़ज़्ल संगचरकी ने दीन मोहम्मद के दावे को ग़लत ठहराया है.

उनका कहना था, "यह सच नहीं है. हो सकता है कि हमें दूसरे दौर के मतदान की ज़रुरत न हो और अब्दुल्ला पहले ही दौर में विजयी हो जाएँ."

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है