पाकिस्तानी सेना को प्रशिक्षण

  • 22 अगस्त 2009
श्रीलंका की सेना
Image caption श्रीलंका ऐसी पेशकश अमरीका, भारत और बांग्लादेश को भी कर चुका है

श्रीलंका ने कहा है कि वह पाकिस्तानी सेना को प्रशिक्षण देने के लिए तैयार है.

श्रीलंका का कहना है कि पाकिस्तान ने उससे अनुरोध किया है कि वह उसकी सेना को प्रशिक्षण दे और ऐसा अनुरोध 'तमिल विद्रोहियों को हराने की उसकी उपलब्धी' के बाद किया गया है.

ग़ौरतलब है कि इस साल मई में श्रीलंका की सरकार ने लगभग तीन दशक से चले आ रहे गृह युद्ध के ख़त्म होने की घोषणा की थी.

श्रीलंका के नए सैन्य कमांडर ने बीबीसी के साथ बातचीत में कहा कि पाकिस्तान ने अनुरोध किया है कि क्या वह केडिट्स को चरमपंथी विरोधी अभियान के प्रशिक्षण के लिए भेज सकता है?

श्रीलंका के नवनियुक्त सैनाध्यक्ष लेफ़्टेनेन्ट जनरल जगत जयसूर्या ने कहा, "हम इस अनुरोध का सकारात्मक जवाब देंगे. श्रीलंका की सेना छह हफ़्ते से स्पेशलिस्ट कोर्स के बारे में सोच रही है. इनमें दिलचस्पी दिखाने वाली सेनाओं के छोटे-छोटे दस्तों को प्रशिक्षण दिया जाएगा."

उनका कहना था कि बाहरी ताकतों में इस बात की बहुत दिलचस्पी है कि सेना ने विद्रोहियों को किस तरह से हराया.

उनका कहना था कि श्रीलंका ने कूटनीतिक तरीके से इसी तरह के प्रशिक्षण की पेशकश कई अन्य देशों को की है जिनमें अमरीका, भारत, बांग्लादेश और फ़िलिपींस शामिल हैं.

लेकिन उन्होंने इन रिपोर्टों का खंडन किया कि पाकिस्तानी सैनिकों को हाल में कब्ज़े में लिए गए उत्तरी श्रीलंका के इलाक़ों में प्रशिक्षण दिया जाएगा.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार