पाकिस्तान में अफ़ग़ान पत्रकार की हत्या

  • 24 अगस्त 2009
जानुल्ला हाशिमज़ादा
Image caption जानुल्ला हाशिमज़ादा अफ़ग़ान टीवी चैनल शमशाद टेलीविज़न के चर्चित पत्रकार थे

पाकिस्तान में अधिकारियों के अनुसार उत्तर-पश्चिम सीमा प्रांत में अज्ञात बंदूकधारियों ने अफ़ग़ानिस्तान के एक पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी है.

40 वर्षीय जानुल्ला हाशिमज़ादा पेशावर में अफ़ग़ानिस्तान के एक टीवी चैनल, शमशाद टीवी के ब्यूरो प्रमुख थे.

वे अफ़ग़ानिस्तान से लौट रहे थे जब कब़ायली ज़िले ख़ैबर के मुख्य शहर जमरूद के निकट कुछ लोगों ने घात लगाकर उनकी बस पर हमला कर दिया.

इस हमले की ज़िम्मेदारी किसी ने स्वीकार नहीं की है. ये क्षेत्र तालिबान का गढ़ माना जाता है.

जानुल्ला हाशिमज़ादा ख़ुलकर तालिबान का विरोध करते थे.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने जमरूद के एक अधिकारी के हवाले से हमले का ब्यौरा दिया है.

रेहान खटक नामक इस अधिकारी ने रॉयटर्स को बताया,"हमलावर एक कार से आए थे जिन्होंने आगे जाकर बस को रोका और फिर भीतर घुसकर उन्होंने पत्रकार की हत्या कर दी".

अधिकारी ने बताया कि एक यात्री भी इस हमले में घायल हुआ है.

जानुल्ला हाशिमज़ादा शमशाद टीवी के एक जाने-माने पत्रकार थे.

उन्होंने इससे पहले फ़्रीलांस पत्रकारिता भी की और बीबीसी समेत कई अंतरराष्ट्रीय समाचार संगठनों को वीडियो सामग्रियाँ भी उपलब्ध करवाईं.

शमशाद चैनल अफ़ग़ानिस्तान के चरमपंथ प्रभावित प्रांतों में काफ़ी लोकप्रिय है और इसके प्रसारण पाकिस्तान में भी देखे जाते हैं, विशेषतः अफ़ग़ानिस्तान से लगे इलाक़ों में.

पाकिस्तान के उत्तर पश्चिम सीमा प्रांत में इस वर्ष कम-से-कम तीन अन्य पत्रकारों की हत्या की जा चुकी है.

मीडिया की आज़ादी के लिए आंदोलन करनेवाले समूहों के अनुसार पत्रकारों के लिए ये इलाक़ा दुनिया के सबसे ख़तरनाक इलाक़ों में से एक है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है