पाक मिसाइलों पर अमरीका गंभीर

पाकिस्तानी नौसेना
Image caption आरोप है कि मिसाइल की तकनीक बदलने से उसकी पहुँच भारत तक हो गई है

अमरीका सरकार ने कहा है कि वह पाकिस्तान के बारे में आ रही इन रिपोर्टों को गंभीरता से ले रहे हैं कि पाकिस्तान ने ग़ैरक़ानूनी रूप से समुद्र में वार करनेवाली अमरीका निर्मित मिसाइलों में फेरबदल किया है जिससे कि वो ज़मीन पर भी वार कर सके.

अमरीकी विदेश मंत्रालय ने बताया है कि इस विषय को पाकिस्तान सरकार के समक्ष भी उठाया गया है और पाकिस्तान सरकार अमरीका के साथ मिलकर इस संबंध में निगरानी करने की बात पर सैद्धांतिक तौर पर सहमत हो गई है.

अमरीकी समाचारपत्र न्यूयॉर्क टाइम्स में पिछले रविवार को छपी एक रिपोर्ट में सबसे पहले इस तरह के आरोप लगाए गए थे जिनमें अमरीकी अधिकारियों के हवाले से ख़बर छपी थी कि पाकिस्तान ने शीत युद्ध के दौर में रीगन सरकार की ओर से मिले हारपून मिसाइलों के साथ छेड़छाड़ की है.

भारत के सैन्य अधिकारियों ने भी इस ख़बर पर चिंता जताई थी.

मगर पाकिस्तान सरकार ने ऐसे आरोपों को ग़लत बताया और कहा कि उसके पास पहले से ही हारपून मिसाइलों से भी अधिक उन्नत तकनीक मौजूद है.

गंभीर चिंता

भारतीय समाचार एजेंसी पीटीआई ने एक वरिष्ठ अमरीकी अधिकारी के हवाले से ख़बर दी है कि अमरीका ने इस मुद्दे को पाकिस्तान सरकार के सामने उठाया है.

अमरीकी विदेश विभाग में सहायक मंत्री पी जे क्राउली ने पीटीआई को बताया,"ये ऐसा विषय है जिसे हम बेहद गंभीरता से लेते हैं. हमने इस मुद्दे को पाकिस्तान के सामने रखा है और पाकिस्तान ने सैद्धांतिक तौर पर इस बारे में परस्पर निगरानी के लिए सहमति दी है."

अधिकारी ने कहा कि अमरीका सरकार अभी ये देखेगी कि इस निगरानी से उनकी ओर से व्यक्त चिंताएँ दूर होती हैं कि नहीं.

पाकिस्तान पर इस तरह के आरोप लगने के बाद उसे दी जानेवाली अमरीकी सहायता को लेकर चिंता व्यक्त की गई है.

अमरीका की ओबामा सरकार ने इस वर्ष के आरंभ में पाकिस्तान को असैनिक सहायता की राशि को तिगुना कर साढ़े सात अरब डॉलर करने की घोषणा की थी.

इस सहायता राशि पर फ़िलहाल अमरीकी कांग्रेस में विचार चल रहा है जो अंतिम दौर में है.

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया था कि मिसाइल विवाद से पाकिस्तान को दी जानेवाली सहायता की राह में रूकावट आ सकती है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है