पाक धार्मिक मामलों के मंत्री को गोली लगी

हमीद सईद काज़मी
Image caption काज़मी को तालेबान का प्रखर आलोचक समझा जाता था

पाकिस्तान के धार्मिक मामलों के मंत्री हामिद सईद काज़मी पर बंदूकों से हमला किया गया है जिसमें वो घायल हो गए है और एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई.

काज़मी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

राजधानी इस्लामाबाद में पुलिस का कहना है कि शहर में हमीद सईद काज़मी की कार पर कुछ बंदूकधारियों ने अंधाधुंध गोलियाँ चलाईं जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई. उस व्यक्ति को हमीद सईद काज़मी का कार चालक समझा जा रहा है.

हमले में एक अन्य व्यक्ति भी ज़ख़्मी हुआ बताया गया है. यह समाचार लिखने तक इस हमले की किसी ने ज़िम्मेदारी स्वीकार नहीं की थी.

हमीद सईद काज़मी तालेबान के मुखर आलोचक रहे हैं. मई 2009 में एक सम्मेलन हुआ था जिसमें आत्मघाती हमलों की तालेबान की रणनीति की खुलकर आलोचना की गई थी और उसे ग़ैर-इस्लामी भी क़रार दिया गया था.

वो सम्मेलन धार्मिक मामलों के मंत्री हमीद सईद काज़मी ने ही आयोजित कराया था. पाकिस्तान में तालेबान का विरोध करने वालों में काज़मी का नाम प्रमुख था और वे मदरसों में सुधारों का काम जारी रखे हुए थे.

उन्होंने अन्य अनेक वरिष्ठ धार्मिक विद्वानों के साथ मिलकर तालेबान की तीखी आलोचना की थी.

इस्लामाबाद के एक पुलिस अधिकारी ने अपना नाम क़ासिम बताते हुए समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा, "बंदूकधारियों ने काज़मी की कार पर जैसे गोलियों की बौछार कर दी थी."

कार की खिड़कियाँ इस हमले में चकनाचूर हो गईं और सीटों पर भी ख़ून के धब्बे नज़र आ रहे थे.

वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी शौक़त हमीद कियानी ने बताया कि काज़मी की टाँग में गोली लगने से हड्डी टूट गई है और वो सदमे की स्थिति में हैं.

अस्पताल में काज़मी का इलाज करने वाले दल की एक डॉक्टर शाज़िया नज़ीर ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि मंत्री के ड्राइवर को मृतावस्था में अस्पताल में लाया गया था, ड्राइवर के सिर में गोली लगी थी.

इसके अलावा एक सुरक्षा गार्ड गंभीर रूप से घायल भी हुआ है.

स्वास्थ्य मंत्री ऐजाज़ झकरानी ने इन ख़बरों का खंडन किया है कि हमीद सईद काज़मी की सुरक्षा में किसी तरह की कोताही थी. उन्होंने कहा कि यह एक सुनियोजित हमला था जिसका निशाना मंत्री ही थे.

संबंधित समाचार